कक्षा 9 की बच्ची को नहीं छोड़ा हवस की आग में जलते ईसाई पादरी ने.. बनाया था प्रार्थना का बहाना


वो पादरी था जिसका सभी लोग काफी सम्मान करते थे. वह लोगों को मानवीयता, इंसानियत तथा आपसी सद्भाव का सन्देश देता था, नारी सम्मान की बात करता था. लेकिन पादरी की वास्तविक हकीकत क्या थी ये कोई नहीं जानता था. दरअसल पादरी के वेश में वो एक हैवान दरिंदा था जिसने अपने हवस की आग में 9वीं कक्षा में पढने वाली मासूम बच्ची के साथ बलात्कार कर उसके जीवन को तबाह कर दिया. पुलिस ने आरोपी पादरी को गिरफ्तार कर लिया है तथा पीड़िता पादरी के घर से बरामद किया है. पुलिस ने पादरी पर पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

मामला पंजाब के गुरदासपुर के भैणी मिया खां गांव का है. पीड़िता की मां ने बताया कि उनकी बेटी रोज की तरह स्कूल गई थी लेकिन जब वो समय पर घर नहीं लौटी तो घरवाले परेशान हो गए और उसकी तलाश शुरू की. लड़की का पता नहीं लगने पर पुलिस को जानकारी दी गई. छात्रा की मां के अनुसार उन्हें पहले से पादरी पर शक था क्योंकि वो प्रार्थना के बहाने उनके घर में आता था और लड़की के साथ गलत हरकतें करने का प्रयास करता था. घरवालों की शिकायत पर पुलिस ने पादरी के घर छापा मारा तो वहां छात्रा आपत्तिजनक हालत में पादरी के चंगुल में मिली.

पुलिस ने लड़की को रिहा कराकर आरोपी पादरी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के अनुसार गांव का ही रहने वाला पादरी प्रवेज कुमार स्‍थानीय चर्च में प्रार्थना किया करता था. बुधवार को जब पीड़िता स्कूल जा रही थी रास्ते से वो उसे प्रार्थना करवाने के बहाने अपने साथ घर ले गया. इसके बाद पादरी ने छात्रा के साथ रेप किया और उसे बंधक बना लिया. पुलिस ने पीड़िता की मेडिकल जांच करवाने के बाद आरोपी पादरी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...