बच्चियों के दुष्कर्म की बाढ़ एक नीच सोच द्वारा.. इस बार बलात्कारी का नाम मोहम्मद इबरान

वो कौन सी सोच है महिलाओं को मात्र अपनी हवस की पूर्ती का साधन मात्र समझती हैं? आखिर वह कौन सी सोच है जिसके लिए नारी वर्ग की अहमियत सिर्फ और सिर्फ उसकी हवस मिटाने के लिए होती है ?आखिर वो कौन सी सोच हो जो अपनी हवस की भूख में इतनी ज्यादा अंधी हो जाती है कि इसके लिए सारी मान-मर्यादाएं तोड़ देती है तथा अपनी दरिंदगी का शिकार मासूम बच्चियों तक को बना लेती है, उनके बचपन को उस्न्की अस्मिता को कुचल देती है? सबसे बड़ा सवाल यही है कि आखिर ये सोच आती कहाँ से है?

“हमारा देश तत्काल छोड़ दें सभी विदेशी मौलाना वरना उनसे अब सीधे पुलिस मुलाक़ात करेगी” … श्रीलंका के नए रूप ने इजरायल को भी पछाड़ा

जाहिल हैवानियत से ग्रसित इसी सोच का शिकार बिहार के भागलपुर की एक नाबालिग बच्ची हुई है जिसके साथ उन्मादी दरिन्दे मोहम्मद इबरान ने बेरहमी के साथ दुष्कर्म किया तथा उसके बचपन को अपनी हवस की भूख में कुचल दिया. मोहम्मद इबरान के दुस्साहस का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसने नाबालिग का उसी के घर से अपहरण किया व बलात्कार किया.

भारत में अफजल गुरु के बेटे के बताये जाते रहे नंबर… श्रीलंका में आतंकी के अब्बा और दो भाइयों को भी पुलिस ने उतारा मौत के घाट

मामला बिहार के भागलपुर जनपद के नवगछिया के भवानीपुर ओपी थाना क्षेत्र के एक गाँव का है. खबर के  मुताबिक़, गुरूवार को 14 वर्षीय नाबालिग पीड़ित अपने घर मे सोई हुई थी. तभी मोहम्मद इबरान आया व लड़की को सोते समय घर से उठाकर सुनसान जगह पर ले गया व दुष्कर्म किया. दुष्कर्म के बाद इबरान वहां से फरार हो गया. इस संबंध में शुक्रवार को पीड़ित की बहन के बयान पर नवगछिया महिला थाने में दुष्कर्म की प्राथमिकी दर्ज की गई है. पुलिस ने बताया कि बच्ची का मेडिकल कराया है व मामले की जांच की जा रही है.

आतंक की वजह अशिक्षा व गरीबी ? श्रीलंका में गिरफ्तार हो रहे प्रिंसिपल और डॉक्टर.. न वो अशिक्षित थे और न ही गरीब

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post