बड़ा नाम था मियां रहमानी का जिसके पोस्टर दिखते थे ट्रेनों में, जो खुद को बताया था तांत्रिक…. लेकिन वो असल में था कुछ और

अब मौलानाजी जैसे फर्जी दावे वाले लोग भी अंधविश्वास और तंत्र-मंत्र के बाजार में पूरी तरह उतर आए हैं। इनके हौसले भी बुलंद होते जा रहे हैं। आश्चर्य यह है

कि इस तंत्र-मंत्र के चक्कर में सिर्फ गरीब या अशिक्षित लोग ही नहीं पड़ रहे हैं, बल्कि पढ़े-लिखे और संपन्न तबके के लोग भी बहुत बार ऐसे ही लोगों की शरण

में जाकर अपनी परेशानियों का हल तलाशते हैं और ठगी के शिकार होते हैं। आपको बता दे कि तंत्र-मत्र के नाम पर लोगों को चूना लगाने वाला कुख्यात तांत्रिक

बाबा मिया रहमानी आखिरकार लंबी आंख-मिचौली के बाद पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने साथ ही रहमानी बाबा के चेला को भी गिरफ्तार कर लिया है। दोनों

पर ठगी और उगाही के आरोप हैं।

पुलिस को जब से तांत्रिक बने दोनों ठगों की शिकायत मिली थी, तभी से वह उनकी तलाश में जुट गई थी। लेकिन वे एक जगह ज्यादा दिन ठहरते ही नहीं थे,

इसलिए उन्हें पकड़ने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। अंततः पुलिस दोनों ठगों को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से गिरफ्तार करने में सफल रही।
गौरतलब है कि बाबा मिया रहमानी के नाम से मशहूर इस ठग का असली नाम सोनू मलिक है और वह छत्तीसगढ़ के दुर्ग का रहने वाला है। उसका चेला मिला

सुल्तानी भी उसकी ठगी के अपराध में बराबर का साझेदार रहा है और उसका असली नाम आरिफ मलिक है।
दोनों ही ठग जिस भी शहर में रहते हैं, वहां के स्थानीय अखबारों और केबल टीवी चैनलों पर अपने विज्ञापन खूब प्रसारित करवाते है।

इससे वे जल्द ही इलाके में

जाने-माने तांत्रिक के रूप में मशहूर हो जाते। वे इस शहर में कइयों को अपने तंत्र जाल में फंसाकर लूटते और जब उन्हें लगता कि उनकी पोल खुलने वाली है, तो

फरार हो जाते है।
छत्तीसगढ़ के भी कई निजी केबल टीवी में दोनों के ढेरों विज्ञापन चलते हैं, जिसमें वे किसी को भी वश में करने, कष्टों को दूर करने और एक ही फूंक में भूत-प्रेतों

के चक्कर से छुटकारा दिलाने का दावा करते हैं। मिया रहमानी और मिया सुल्तानी अपने तंत्र मंत्र से किसी को भी अपने वश में करने का दावा भी करते हैं।
उनके इन्हीं दावों के चक्कर में फंसी भिलाई के खुर्सीपार की रहने वाली एक महिला ने पुलिस में उनकी शिकायत की। महिला ने बताया कि दोनों ने उससे 6.2

लाख रुपये ठग लिए।

दरअसल महिला के पति की मौत हो चुकी थी। पति के मौत के बाद इस महिला के साथ आर्थिक दिक्कत खड़ी हो गई।
इतना ही नहीं इस महिला के परिजनों ने उसे घर से निकालने की कोशिश भी की। महिला परिस्थिति के चलते तनाव से ग्रस्त हो गई। तभी उसे किसी ने हर मर्ज

के इलाज का दावा करने वाले तांत्रिक बाबा मिया रहमानी के बारे में बताया। बाबा जी ने फौरन इस महिला को अपने डेरे में बुला लिया।
हफ्ते भर तक तंत्र मंत्र सिद्धि का ढोंग चलता रहा। इस महिला को दोनों तांत्रिकों ने अनिष्ट और भय का डर दिखाकर सिद्धि क्रिया को अंजाम तक पहुंचाने की

कसम खिलाई। इस पर होने वाले खर्च का ब्यौरा दिया। साथ ही पंजाब नैशनल बैंक के अकाउंट में 6.2 लाख रुपये जमा करवाए।

रकम जमा होने के बाद बाबा जी

ने जो तंत्र मंत्र किया उससे न तो पीड़िता को कोई राहत मिली बल्कि और तो और जो दावे किए गए थे, वो भी खोखले साबित हुए। इस महिला को ठगी का

एहसास हुआ। पीड़ित महिला ने जब अपनी आपबीती परिवार वालों को बताई तो उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में कराने की सलाह दी।

इस बीच दोनों तांत्रिक ठग दुर्ग से निकल चुके थे और दूसरे जिलों में घूम रहे थे। इस बीच पुलिस उनके पीछे लगी रही और दोनों ठग उत्तर प्रदेश के विभिन्न

शहरों में तंत्र मंत्र के नाम पर लोगों को ठगते रहे। इस बीच दोनों ठग बाबा मुजफ्फरनगर के चौकी कवाल पहुंचे।
दोनों मुजफ्फरनगर में भी अपना रंग जमा चुके थे। वहां के अखबारों और केबल टीवी में उनकी तंत्र क्रिया के विज्ञापन सुर्ख़ियों में थे। हालांकि इन विज्ञापनों की

वजह से पुलिस को उन्हें धर दबोचने में ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। फिलहाल बाबा और उसका चेला दोनों हवालात की

सैर कर रहे हैं।

Share This Post

Leave a Reply