जिन्न का बहाना लेकर मोहम्मद अली ने 12 साल की मासूम बच्ची का कर डाला कत्ल…


जहां एक ओर सरकार ने देश को डिजिटल बना दिया है, देश के हर कोने को विकसित करने के लिए देश के निवासियों के विचारों में भी परिवर्तन दिख रहा है। वहीं, अभी भी कुछ लोग पुरानी सोच के साथ जिंदगी बिता रहे हैं जिसका भुगतान उनके साथ-साथ उन मासूम बच्चों को भी चुकाना पड़ता है।

इसी से मिलती हुई एक खबर असम से आई है जहां एक 12 वर्षीय बच्ची को एक तांत्रिक ने पीट-पीट के मौत के घाट उतार दिया। बताया गया है कि बच्ची जिसका नाम असमाना है, पिछले कुछ दिनों से बुखार से ग्रसित थी और ना उतरता देख असमाना के पिता उसे अस्पताल ले जाने के बजाए उसे स्थानीय तांत्रिक के पास ले गए।

तांत्रिक ने बच्ची के ऊपर बुरे जिन्नों का साया बताया। उसने कहा कि उसे उससे छुटकारा दिलाने की जरूरत है। जिसके लिए उसका इलाज जल्द से जल्द करवाने में ही भलाई है। इलाज के नाम पर मोहम्मद अली ने कथित रूप से असमाना को कोड़े मारे। 8वीं क्लास में पढऩे वाली असमाना के पूरे शरीर पर कोड़ो से पिटाई के निशान पड़ गए थे।

रविवार को असमाना की मौत हो गई। बेटी की मौत के बाद पिता आफताब अली की ओर से शिकायत दर्ज कराई गई। शिकायत के आधार पर पुलिस ने मोहम्मद अली और उसके फॉलोअर खलील उद्दीन के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। डीएसपी लीना डोले ने बताया कि दोनों से करीमजंग पुलिस थाने में पूछताछ की गई। एसपी गौरव उपाध्याय ने बताया कि हम पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत की वजह का पता चलेगा। उपाध्याय ने कहा कि आरोपी ने असमाना के साथ बुरा व्यवहार किया था। आरोपी मोहम्मद अली पुरबा बर्शिला गांव का रहने वाला है। पिछले साल नवंबर में पूर्वी असम के चराईदियो जिले में भगवान को खुश करने के नाम पर ओझा ने 4 साल की बच्ची की बलि दे दी थी।  


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share