लोकसभा चुनाव की करारी हार से सहमी कांग्रेस विधायक के दावे से पार्टी में हड़कंप, कहा- 15 से ज्यादा विधायक छोड़ सकते हैं कांग्रेस

लोकसभा चुनाव 2019 के सियासी रण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले भारतीय जनता पार्टी नीत NDA गठबंधन से करारी हार झेलने के बाद सहमी हुई कांग्रेस को एक और करारा झटका लगने वाला है. खबर के मुताबिक़, गुजरात में कांग्रेस से नाराज चल रहे विधायक अल्पेश ठाकोर ने मंगलवार को दावा किया है आने वाले दिनों में कांग्रेस के 15 विधायक पार्टी छोड़ देंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में लोग व्यथित हैं तथा पार्टी से परेशान हैं.

कांग्रेस के बागी विधायक अल्पेश ठाकोर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मेरे लोग गरीब और पिछड़े है. उन्हें सरकार का साथ चाहिए. मैं परेशान था कि मैं अपने लोगों को वह नहीं दे सका, जो मैंने इरादा किया था. मेरे लोगों ने उनकी राय को बताया कि हमें वहां नहीं होना चाहिए जहां हमारे पास सम्मान नहीं है और उनके अधिकारों की कोई बात नहीं है.’ अल्पेश ठाकोर ने कहा, ‘यह हमारा फैसला था और मेरी अंतरात्मा की आवाज थी कि हम यहां नहीं रहना चाहते. हम सरकार की मदद से अपने लोगों और गरीबों के लिए काम करना चाहते हैं. इंतजार करें और देखें, 15 से ज्यादा विधायक कांग्रेस छोड़ रहे हैं, हर कोई व्यथित है. आधे से ज्यादा विधायक परेशान हैं.’

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की करारी हार पर अल्पेश ठाकोर ने कहा कि कांग्रेस लोगों की जरूरतों को समझने में नाकामयाब रही है. कांग्रेसी बस ‘घोटाला हुआ है घोटाला हुआ है’ की रट लगाए हुए हैं. असल में कोई घोटाला नहीं हुआ है घोटाला उनके दिमाग में है. अल्पेश ठाकोर ने कहा है कांग्रेस नेता बार-बार घोटालों की बात करते हैं ऐसा कुछ नहीं है बस उनके दिमाग में ‘केमिकल लोचा’ है. उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आरएसएस के खिलाफ नकारात्मक कैंपेनिंग के लिए उन्होंने कांग्रेस को आगाह किया था. अल्पेश ने कहा कि मोदी गैर-भ्रष्टाचार का चेहरा हैं जबकि आरएसएस राष्ट्रवाद का चेहरा हैं.

अल्पेश ठाकुर कुछ साल पहले अपनी जाति के लिए कोटा की मांग करने दौरान चर्चाओं में आए थे. इसके बाद 2017 में गुजरात विधानसाभ चुनाव से पहले उन्होंने कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी. उस वक्त उन्होंने राधनपुर सीट से जीत हासिल की थी. इसके बाद पिछले महीने ही लोकसभा चुनाव शुरू होने से पहले अल्पेश के अलावा दो और विधायकों ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था. इनमें धवलसिन्ह ठाकोर और भरतजी ठाकोर शामिल हैं. अल्पेश ने सोमवार को गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल से मुलाकात की थी. इसके बाद से ही उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें और तेज हो गई थी. इसपर भाजपा में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा था कि थोड़ा इंतजार कीजिए.

Share This Post