महाराणा प्रताप जी की जयंती मना रहे हिन्दुओ पर मज़हबी उन्मादियों का हमला. फूंक डाले कई वाहन ..सुलग रहा मध्य प्रदेश

एक बार फिर से चुनौती मिली है भारत के स्वाभिमान को .. महाराणा प्रताप जो राष्ट्र के गौरव और हिंदुत्व के स्वाभिमान थे उनकी शोभायात्रा पर पथराव कर के आक्रांता अकबर के भक्तों ने अपनी धर्मान्धता का वो परिचय दिया है जो शायद क्षमा के योग्य नहीं है . उधर तमाम नेता और मज़हबी लोग ईद को आपसी भाईचारा और सौहार्द का पर्व बता कर सेवई का आनंद उठा रहे हैं लेकिन पहले कश्मीर में राष्ट्र के रक्षको और अब मध्य प्रदेश में महाराणा प्रताप के भक्तो पर हमला कर के उन्होंने दिखाई है अपनी वो मानसिकता जो टी वी पर बैठ कर लच्छेदार बाते करने वाले तमाम मज़हबी ठेकेदारों को सच का आईना दिखा रही है और सवाल कर रही है की हिन्दू समाज का क्या होगा ?

ज्ञात हो की दुस्साहस की हर सीमा को पार करते हुए एक बार फिर से मध्य प्रदेश को सुलगाने की कोशिश कर दी गयी है . वो अपनी ईद मना रहे थे जिस से किसी को कोई समस्या नहीं थी लेकिन जब हिन्दू कुलभूषण महाराणा प्रताप जी की शोभा यात्रा निकली तो उन्हें ये पसंद नहीं आई और कर दिया उस पर हमला . मध्य प्रदेश के शाजापुर में ईद की नमाज के बाद सभी मुस्लिम समाज के लोग अपने-अपने घरों के लिए ईदगाह से प्रस्थान कर चुके हैं और उनके आपसी मेल मिलाप का दौर चल रहा था . इसके कुछ ही समय बाद हिंदुत्व स्वाभिमान के प्रतीक महाराणा प्रताप जयंती पर चल समारोह सही समय पर प्रारंभ हुआ जो कि शहर के मुख्य मार्गो से होता हुआ बस स्टैंड के लिए रवाना हुआ ..

अचानक पहले से ही तयारी कर के बैठे मज़हबी उन्मादियों ने ठीक कश्मीरी अंदाज़ में इस जुलूस पर बुरी तरह से पथराव कर दिया जिसके कारण शहर मैं तनाव फैल गया और दोनों पक्ष आमने-सामने हो गए .. इस पथराव में हिन्दू समाज के कुछ लोग और पुलिस वाले दोनों घायल हो गए मामले की सूचना लगते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचे और किसी को काबू करने का प्रयास किया लेकिन उपद्रवियों ने नई सड़क क्षेत्र में 5 से 7 गाड़ियों को तब तक आग के हवाले कर दिया..साथ ही कई दुकानों के बाहर तोड़फोड़ कर दी और उन्हें लूट लिया गया .. जिसे काबू करने के लिए पुलिस बल ने आंसू गैस के साथ-साथ लाठीचार्ज कर दिया वही मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक एवं कलेक्टर ने तनाव की स्थिति देखते हुए शहर में धारा 144 लागू कर दी है फिलहाल शहर में शांति है व शहर के मुख्य चौराहों पर भारी पुलिस बल तैनात है वहीं पुलिस द्वारा उपद्रवियों को ढूंढने का प्रयास किया जा रहा है.. फिलहाल धर्मनिरपेक्ष नेता ईद की सेवई खाने और ईद मुबारक के ट्वीट में व्यस्त हैं और इस पर्व को शांति , प्यार अमन और भाईचारे का पर्व बता कर पूरे इस्लामिक वेशभूषा में नजर आ रहे हैं . 

Share This Post

Leave a Reply