Breaking News:

देवस्थान से मिला प्रसाद सड़क पर फेंक दिया कांग्रेस के कदावर नेता ने.. आक्रोश में है हिन्दू जनता

कांग्रेस पार्टी जिसने अक्सर हिन्दुओं के खिलाफ दमनकारी नीति अपनाई, हिन्दू आस्थाओं के साथ खिलवाड़ किया, हिन्दू आस्थाओं का मजाक उड़ाया लेकिन जब आक्रोशित हुई जनता का खर कांग्रेस पार्टी पर गिरा तो कांग्रेस केंद्र के साथ देश के ज्यादातर राज्यों से गायब हो गई जिसने फलस्वरूप कांग्रेस ने अपने अध्यक्ष राहुल गांधी को जनेऊधारी हिन्दू बता दिया तथा राहुल गांधी मंदिर जाने जाने व सन्देश देने की कोशिश की कि वह हिन्दुओं के खिलाफ नहीं है. लेकिन एक बार फिर अनयासा ही कांग्रेस पार्टी का हिन्दू विरोधी चेहरा सामने आया है.

आपको बता दें कि लोकसभा सांसद तथा कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया पर मंदिर का प्रसाद सड़क पर फेंकने का आरोप लगा है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें वो चलती कार से एक नारियल जमीन पर छोड़ते हुए नजर आ रहे हैं. बताया जा रहा है कि यह प्रसिद्ध मंदिर भैंरोटेक बाबा मंदिर से लाया गया प्रसाद का नारियल था. एक सिंधिया समर्थक इसे भगवान के आशीर्वाद स्वरूप लेकर आया था और सिंधिया को भेंट किया था. सिंधिया ने तत्समय तो उसे हाथ मे ले लिया, लेकिन बाद में फैंक दिया. मध्य प्रदेश के खजुराहो से निकलकर ज्योतिरादित्य अपने काफिले के साथ रीवा जा रहे थे. इसी दौरान छतरपुर जिले के कांग्रेस कार्यकर्ता उनके स्वागत के लिए सड़क के दोनों तरफ खड़े थे. इस दौरान कोई कार पर फूल फेंक रहा था तो कोई उन्हें भेंट दे रहा था. इसी दौरान एक उत्साही कांग्रेस कार्यकर्ता ने सिंधिया को पन्ना के भैंरोटेक बाबा मंदिर का प्रसाद नारियल भेंट कर दिया. सिंधिया ने उस नारियल को स्वीकार कर लिया. लेकिन इसके बाद सिंधिया ने प्रसाद के उस नारियल के साथ जो किया उसने एक बार फिर से कांग्रेस को बेनकाब कर दिया. सिंधिया ने उस नारियल को निकालकर चलती कार से बाहर फेंक दिया. इस पूरे वाकये को किसी राहगीर ने अपने मोबाइल कैमरे से शूट किया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

बताया जा रहा है कि सिंधिया समर्थक कार्यकर्ता भैंरोटेक बाबा मंदिर से यह श्रीफल लेकर आया था. उसने भैंरोटेक बाबा मंदिर में विशेष प्रार्थना का आयोजन किया. मंदिर से उन्हे भैंरोटेक बाबा के आशीर्वाद के रूप में श्रीफल दिया गया था. हिंदुओं की धार्मिक मान्यताओं के अनुसार यह मनोकामना का श्रीफल होता है. यदि इसे पूजास्थल के समीप ​स्थापित किया जाए और प्रतिदिन दूध दीप दिखाए जाएं तो माना जाता है कि मनोकामनापूर्ति में उत्पन्न बाधाएं दूर हो जातीं हैं. और इसी सोच के साथ कांग्रेस कार्यकर्ता ने मंदिर में पूजा की थी कि ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री बने लेकिन सिंधिया ने प्रसाद का नारियल फेंककर कांग्रेस की मानसिकता को उजागर कर दिया. सिंधिया का प्रसाद फेंकते हुए वीडियो वायरल के बाद सोशल मीडिया पर सिंधिया की काफी आलोचना की जा रही है तथा ट्विटर पर #AntiHinduCongress ट्रेंड चलाया गया. ट्विटर पर भैया जी नामक एक यूजकर ने वीडियो ट्वीट कर सिंधिया की आलोचना की थी, जिसके बाद सिंधिया के खिलाफ अभियान चलाया गया.

Share This Post