मध्य प्रदेश में कांवड़ियों का एलान… सड़कें गूंजेंगी इस पार्टी को वोट देने के लिए

पूरे देश में पावन श्रावण मास की धूम सुनाई दे रही है तथा आम जनता से लेकर सेलिब्रिटी तक महाकाल भोलेनाथ के रंग में रेंज हुए नजर आ रहे हैं. भगवान भोलेनाथ के प्रिय माने जाने वाले सावन के महीने में कांवड़ियां देश के अलग-अलग हिस्सों में ज्योतिर्लिंगों की तरफ कावड़ यात्रा लेकर भोलेनाथ के दर्शन के लिए जा रहे हैं. लेकिन इस बार की कांवड़ यात्रा पर राजनैतिक रंग भी चढ़ गया है तथा मध्य प्रदेश में कांवड़ियों ने भारतीय जनता पार्टी के समर्थन का एलान कर दिया है. ज्ञात हो कि इस साल के अंत तक देश के चार राज्यों मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और मिजोरम में चुनाव होने वाले हैं. इस कारण इस बार कांवड़ यात्रा पर भी राजनीति का रंग चढ़ गया है.

चार राज्यों के विधानसभा चुनाव नजदीक आने के साथ ही देशभर में राजनीतिक दलों का चुनाव प्रचार का बिगुल बज गया है. राजनीतिक दल अपने प्रचार-प्रसार के लिए अलग अलग तरीके निकाल रही है. चुनाव प्रचार से सावन का त्योहार भी नहीं बचा है. मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नेता कावड़ यात्रा निकालकर गांवों – कस्बों, शहरों से होते हुए बीजेपी की उपलब्धियों का प्रचार करते हुए मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से उज्जैन की तरफ निकले हैं. इंदौर के बीजेपी नेता गोलू शुक्ला सात हजार कांवड़ियों को साथ लेकर 175 किलोमीटर लंबी कांवड़ यात्रा में निकले हैं. इस यात्रा के दौरान वह रास्ते में पड़ने वाले लगभग ढाई सौ गांवों और कई शहरों समेत कुल 15 विधानसभा में बीजेपी का प्रचार करते हुए उज्जैन की तरफ जा रहे हैं.

कांवड़ यात्रा देखते हुए कांग्रेस सत्ताधारी बीजेपी पर धर्म की राजनीति करने का आरोप लगा रही है. कांवड़ यात्रा के दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय नेता प्रभात झा ने कांग्रेस के नेताओं को बीजेपी में जोड़ने का प्रस्ताव भी दिया है. भाजपा का कहना है कि राज्यभर से उन्हें जनता का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है तथा कांवड़ यात्रा के इस अभियान से भी भाजपा को मजबूती मिलेगी तथा राज्य में आने वाले चुनावों में भाजपा की सरकार पुनः बनेगी.

Share This Post