चुनाव से पहले ही मध्य प्रदेश कांग्रेस में घमासान… कुर्सी की जंग भाजपा से नहीं बल्कि अपने ही अंदर शुरू

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनावों में लगभग ४ महीने बाकी रह गए है तथा सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर से राज्य में कमल खिलाने के लिए पूरी कोशिश कर रही है तथा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान पूरी सिद्दत से जनता की नब्ज ततोत रहे हैं तथा अपने पाले में लाने का प्रयास कर रहे हैं. आश्चर्य की बात है कि १५ साल से राज्य की सत्ता से बाहर कांग्रेस पार्टी में भी मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए जंग शुरू हो गई है लेकिन ये जंग भाजपा से नहीं है बल्कि खुद कांग्रेस के भीतर है. मध्य प्रदेश कांग्रेस के दो कद्दावर नेता चुनावों से पहले ही भाजपा के बजाय आपस में ही लड़ते हुए नजर आ रहे हैं तथा कुर्सी के लिए अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं.

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष आकंलनाथ तथा मध्य प्रदेश एक अन्य बड़े नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच रहस्‍यमयी ढंग से सोशल मीडिया पर ‘पोस्‍टर वॉर’ शुरू हो गया है. मध्‍य प्रदेश कांग्रेस के अध्‍यक्ष कमलनाथ और चुनाव अभियान कमेटी के चेयरमैन ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के सोशल मीडिया पर मौजूद फैन क्लब अपने-अपने नेता को सीएम पद का दावेदार बताते हुए पोस्टर शेयर कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता माधव राव सिंधिया के समर्थन में पोस्टर वायरल हो रहे हैं, जिनमें उन्हें मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाने की मांग की गई है. इन पोस्टर्स में निवेदक के रूप में ‘श्रीमंत सिंधिया फैन क्लब’ लिखा हुआ है. सिंधिया के समर्थन में शेयर किए जा रहे पोस्टर्स पर ऐसे स्लोगन लिखे गए हैं, जिनमें ऐसा जाहिर हो रहा है कि मुख्यमंत्री पद के लिए सिंधिया ही पहली पसंद हैं. एक पोस्टर में लिखा गया है, ‘देश में चलेगी विकास की आंधी, प्रदेश में सिंधिया, केंद्र में राहुल गांधी’. ऐसे स्लोगन से संदेश दिया जा रहा है कि विकास तभी संभव है जब केंद्र की कमान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी संभालें और प्रदेश की ज्योतिरादित्य सिंधिया.

 


इधर सिंधिया के फैन क्लब ने सिंधिया को मुख्यमंत्री पद का दावेदार बताते हुए पोस्टर जारी किये तो उधर प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ कहा पीछे रहने वाले थे. इसके बाद ध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमल नाथ के समर्थन में भी सोशल मीडिया पर पोस्टर शेयर किए जा रहे हैं. इन पोस्टरों में कमलनाथ को मुख्यमंत्री पद का दावेदार बताया गया है. खास बात ये है कि मुख्‍यमंत्री पद के लिए कमलनाथ के समर्थन वाले पोस्‍टरों में निवेदक के रूप में मध्‍यप्रदेश कांग्रेस युवा मित्र मंडल का नाम दिया गया है. इस पोस्‍टर में कहा गया है, ”राहुल भैया का संदेश, कमलनाथ संभालो प्रदेश.”तरह एक और पोस्टर में कमलनाथ को ‘कमल’ (बीजेपी का चुनाव चिन्ह) की काट बताया गया है. सोशल मीडिया पर दोनों नेताओं के समर्थन में शेयर हो रहे पोस्टरों से पार्टी दो धड़ों में बंटती नजर आ रही है. अभी कांग्रेस को गद्दी मिली भी नहीं हैं लेकिन उससे पहले ही गद्दी की लड़ाई पार्टी में शुरू हो गई है वही भाजपा में शिवराज के नाम पर कोई विवाद नहीं है जो भाजपा को चुनावों से पहले मनोवैज्ञानिक लाभ दिला सकता है.


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share