हिन्दुओं का चौतरफा दमन… मध्य प्रदेश में चल रहा धर्मान्तरण का कारखाना.. जो नहीं मान रहा उसके लिए तय की गयी है कठोर सजा

केवल इस्लामिक संगठन ही नहीं बल्कि इसाई मिशनरियां भी देश में हिन्दुओं के धर्मान्तरण के लिए तमाम प्रयास कर रही हैं. इन सबका एक ही उद्देश्य है कि कैसे भी करके हिन्दुओं को उनके धर्म से विमुख किया जाए, व उनको ईसाई बनाया जाये. कभी लालच देकर तो कभी डरा धमकाकर ये लोग हिन्दुओं के धर्मान्तरण का प्रयास करते रहते हैं, जिसमें इन्हें आंशिक सफलता भी मिल रही है लेकिन वन्दनीय हैं वो लोग जो जो गरीब जरूर हैं लेकिन अपना धर्म अपना स्वाभिमान नहीं बेचते हैं.

तजा मामला मध्य प्रदेश के सीहोर जिले का है जहाँ ईसाई मिशनरियों का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है तथा जबरन हिन्दुओं का धर्मान्तरण कराया जा रहा है. जानकारी मिली हैं कि मध्य प्रदेश के के सीहोर जिले की आष्टा तहसील के पीठपुरा गाँव के 50 से ज्यादा परिवार हिन्दू धर्म छोड़कर ईसाई बन चुके हैं. इन्हें या तो लालच देकर या जबरन डरा धमकाकर हिन्दू धर्म छोड़कर ईसाई बनाया गया है. मामला तब संज्ञान में आया जब गाँव के 6 परिवार आवेदन लेकर आष्टा तहसील मुख्यालय पहुंचे तथा प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि वह लोग पिछले 2 साल से परेशान है क्योंकि है हमारे गांव में ईसाई मिशनरी द्वारा कुछ लोगों को लालच देकर एवं डरा-धमकाकर जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है. उन लोगों ने कहा कि उनका गाँव काफी बड़ा है लेकिन अब पूरा गाँव ईसाई बनने वाला है क्योंकि लगभग 50 परिवार धर्मान्तरण करके ईसाई बन चुके हैं.

लोगों ने बताया कि जीवन, राकेश महार तथा राजेश गाँव मैं ईसाई मिशनरियों के एजेंटों के तौर पर कार्य कर रहे हैं तथा गाँव मेंईसाई धर्म का ग्राम में प्रचार प्रसार कर रहे हैं और प्रलोभन देकर जबरन उनसे ईसाई धर्म की प्रार्थना बुलवाई जा रही है. उन्होंने कहा कि उक्त लोगों के द्वारा पैसे के लालच में ग्राम पिता पुरा और आसपास के अनपढ़ भोले भाले लोगों को प्रलोभन और लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है. बताया गया है कि इस विषय में ग्रामीणों द्वारा कई बार संबंधित सिद्धिकगंज थाने में शिकायत भी की गई लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया जिसके कारण ये लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. ग्रामीणों ने तहसीलदार से कहा कि उनके गाँव में धर्मान्तरण तत्काल रुकवाया जाए  वरना अगर यह लोग बातों से नहीं मानेंगे तो हम उन्हें लठ की भाषा से भी समझा सकते हैं. लोगों ने कहा कि हम मर सकते हैं लेकिन हम धर्म परिवर्तन नहीं करेंगे.

Share This Post

Leave a Reply