मोदी को वोट देने से पहले ही 75 वर्ष के बुजुर्ग को मार डाला.. घटना में कांग्रेस का भी आ रहा नाम

उस 75 वर्षीय बुजुर्ग की गलती सिर्फ इतनी थी कि वह प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी का समर्थन का समर्थन करता था तथा उनको वोट करने के लिए लोगों से अपील कर रहा था. लेकिन इससे पहले कि वह मोदी को वोट कर पाटा, उससे पहले ही राजनैतिक विरोधियों ने उसकी क्रूरतम तरीके से ह्त्या कर दी. उस बुर्जुर्ग की ह्त्या उन लोगों ने की, जो लोकतंत्र तथा संविधान बचाने के नारे के साथ चुनाव लड़ रहे हैं. बुजुर्ग की ह्त्या का आरोप कांग्रेस तथा DMK समर्थकों पर लगा है.

जया प्रदा को गाली देने वाले आज़म खान के समधी पर लग चुका है अपनी ही बहू से अप्राकृतिक कुकर्म का आरोप

मामला दक्षिण भारत के राज्य तामिलना के ओरथानाडू का है जहाँ बीते शनिवार को 75 वर्षीय गोविन्दराजन की हत्या कर दी गई. बताया गया है कि गोविंदराजनपीएम नरेंद्र मोदी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे थे. गोविंदराजन अपनी शर्ट पर पीएम मोदी और जयललिता की तस्वीरें लगाकर पूरे प्रदेश में अलग-अलग जिलों में जाकर चुनाव प्रचार में लगे हुए थे. गोविंदराजन एआईएडीएमके के संस्थापक एमजी रामचंद्रन के भी बड़े समर्थक बताए जा रहे हैं. अपने चुनाव प्रचार अभियान में पीएम मोदी और भाजपा-एआईएडीएमके गठबंधन के लिए वोट मांगते हुए गोविंदराजन शनिवार को तमिलनाडू के ओरथानाडू में पहुंचे.

एक ऐसा पिता, जिसके बेटे ने एलान किया है उसके क़त्ल का… – “मोदी को वोट देने के कारण

पुलिस ने बताया कि ओरथानाडू में चुनाव प्रचार करने के दौरान गोविंदराजन भाजपा-एआईएडीएमके गठबंधन के लिए वोट मांग रहे थे. इसी दौरान उनकी गोपीनाथ नामक शख्स से बहस हो गई. दोनों के बीच बहस इस कदर बढ़ गई कि गोपीनाथ ने गोविंदराजन पर हमला कर दिया और उनके साथ मारपीट करने लगा. गोपीनाथ ने गोविंदराजन को इतना पीटा कि वो बेहोश होकर गिर पड़े और बाद में रात को करीब 9 बजे उनकी मौत हो गई. बताया जा रहा है कि आरोपी शख्स गोपीनाथ डीएमके-कांग्रेस गठबंधन का समर्थक है.

16 अप्रैल: बलिदान दिवस पर नमन है 1857 की क्रांति के महानायक विश्वनाथ शाहदेव जी को.. वो योद्धा जो रियासत का राज छोड़ युद्ध किये और प्राप्त की अमरता

मामले की सूचना मिलते ही पुलिस ने गोपीनाथ के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए उसे रविवार को गिरफ्तार कर लिया. गोपीनाथ को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. पुलिस का कहना है कि आरोपी गोपीनाथ डीएमके-कांग्रेस गठबंधन का समर्थक है. गोपीनाथ को जेल भेज दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है. गोविंदराजन के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है. आपको बता दें कि तमिलनाडु में भाजपा ने एआईएडीएमके के साथ गठबंधन किया है, वहीं कांग्रेस भी डीएमके के साथ चुनावी मैदान में है.

अपने ही पाले नागों से फिर डसा गया पाकिस्तान.. ब्लास्ट में 20 मरे.. हर तरफ बिखरा खून और लाश

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post