धर्मनिरपेक्ष पतिराम ने कभी अपना घर दे दिया था बांग्लादेशी फरीद को दिल्ली जैसे शहर में .. अंत में वह उसी घर में मार डाला गया फरीद के हाथों

एकतरफ सुदर्शन न्यूज़ हमेशा से बांग्लादेशी घुसपैठियों से देश की सुरक्षा के लिए उत्पन होने वाले खतरों से आगाह करता आ रहा है तथा इनके खिलाफ आवाज उठाता रहा है वहीं दूसरी तरफ देश की तथाकथित सेक्यूलर राजनीति देश के दुश्मन इन घुसपैठियों के पक्ष में तनकर खड़ी होती रही है. इसी धर्मनिरपेक्ष सोच के दलित पतिराम केवात ने बांग्लादेशी फरीद खान को अपने घर के पास रहने को जगह दी थी, उसकी मदद की थी और आज यही मदद उसकी मौत का कारण बनी. बांग्लादेशी घुसपैठिये फरीद खान ने आपने साथियों के साथ मिलकर पतिराम केवात की पीट-पीट कर ह्त्या कर दी.

मामला देश की राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी का है. बताया गया है कि पतिराम केवात जहांगीरपुरी में झुग्गी डालकर अपने परिवार के साथ रहता था. कुछ समय पहले उसने बांग्लादेशी फरीद खान को अपनी झुग्गी के पास रहने को जगह दे दी. जब पतिराम का परिवार बढ़ा तथा फरीद खान भी खाने कमाने लगा तो उसने फरीद खान से उसकी जगह खाली करने को कहा तो फरीद खान ने मना कर दिया. आज सुबह पतिराम केवत फरीद खान के पास पुनः जगह खाली करने की बात करने गया तो फरीद खान भड़क गया. देखते ही देखते उसके अन्य साथी मुस्तकीम, अब्दुल्ला और मुहम्मद भी आ गये तथा पतिराम केवात पर हमला कर दिया और पीट-पीट कर उसकी ह्त्या कर दी.

सुदर्शन इसी खतरे को लेकर हमेशा से आपने दर्शकों को आगाह करता रहा और आज जाहिर खान ने सुदर्शन की बात को अक्षरशः सत्य साबित किया है. देश के तथाकथित धर्मनिरपेक्ष राजनेताओं तथा बुद्धिजीवियों द्वारा अपनी स्वार्थी राजनीति के लिए जो छद्म धर्मनिरपेक्षता की पौध तैयार की गई थी, वो अब हिंदुस्तान तथा हिंदुस्तान के नागरिकों की सुरक्षा के लिए ही नासूर बन रही है, एक बड़ा खतरा बन रही है और इसी का शिकार पतिराम केवत हो गया तथा डाला गया.

Share This Post

Leave a Reply