रक्त से लिखी जा रही बंगाल की राजनीति.. गांधीवाद का दिखावा करने वालीं ममता बनर्जी शासित बंगाल में


मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शासित पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की ह्त्या का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. आये दिन राज्य के विभिन्न हिस्सों से बीजेपी कार्यकर्ताओं की ह्त्या की ख़बरें सामने आ रही हैं. लोकसभा चुनाव गुजर जाने के बाद भी ये सब रुकने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला राज्य के बीरभूम का है जहाँ टीएमसी कार्यकर्ताओं की हिंसा के शिकार भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता स्वरूप गोराई की रविवार को कोलकाता के पार्क सर्कस स्थित निजी अस्पताल में मौत हो गयी.

बीजेपी का कहना है कि स्वरूप गोराई बीरभूम जिले के नांनूर विधानसभा के रामकृष्णपुर ब्लॉक का भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता था. शनिवार को तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने उस पर हमला किया, जिसमें वह बुरी तरह से घायल हो गया था. उसे घायल हालत में कोलकाता के पार्क सर्कस स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां रविवार की उसकी मौत हो गयी. प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार ने हत्या की कड़ी शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि बंगाल की कानून व्यवस्था की स्थिति दिनों-दिन बिगड़ती जा रही है. प्रत्येक दिन राज्य के किसी ने किसी इलाके में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही है.

उन्होंने कहा कि सत्ता में बने रहने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कब तक हिंसा का तांडव करती रहेंगी, लेकिन अब बंगाल की जनता इन्‍हें बर्दाश्त नहीं करेगी. जनता तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ है और विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को सत्ता से बाहर कर दम लेगी.   उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में राज्य से ममता सरकार की विदाई होगी तथा विशाल बहुमत के बीजेपी की सरकार बनेगी तब राज्य को हिंसा तथा अराजकता से मुक्ति मिलेगी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share