दिल्ली में शुरू हुआ इस्लामिक आतंकी दल तालिबान और ISIS का क्रूरतम अंदाज… उन्मादी मोहम्मद आज़ाद खान ने चाकुओं से गोदकर मार डाले हिन्दू पति-पत्नी

जिस तरह से इस्लामिक आतंकी दल तालिबान और ISIS क्रूरतम तरीके से कत्लेआम करते हैं, उसी की पुनरावृत्ति देश की राजधानी दिल्ली में दोहराई गई जब उन्मादी मोहम्मद आज़ाद खान ने हिन्दू परिवार पर चाकुओं से हमला कर पति-पत्नी की हत्या कर दी. खबर के मुताबिक, पश्चिमी दिल्ली के ख्याला इलाके में मजहबी उन्मादी मोहम्मद आजाद खान ने पड़ोसी सुनीता तथा उसके परिवार पर क्रूरतम तालिबानी अंदाज में चाकुओं से हमला कर दिया. मोहम्मद आजाद के ताबड़तोड़ चाकुओं के वार से महिला की जान चली गई तो वहीं उसके पति तथा नाबालिग बेटा गंभीर रूप से जख्मी हो गया. मृतका के पति व बेटे को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पति की भी जान चली गई वहीं बेटे की हालात नाजुक है. वारदात के बाद हत्या के बाद उन्मादी आज़ाद खान फरार हो गया.

घटना बुधवार शाम करीब 7.30 बजे की है. पश्चिम दिल्ली के ख्याला की डीडीए कॉलोनी में सुनीता नाम की महिला अपने परिवार के साथ रहती थी. चार दिन पहले सुनीता के बच्चे की बोतल को लेकर उसका पड़ोसी मोहम्मद आजाद खान से झगड़ा हो गया था. बुधवार को आज़ाद खान फिर सुनीता से झगड़ने लगा. दोनों के बीच इस बहस को देख सुनीता का पति वीरू और बेटा आकाश भी वहां पहुंच गया. इसके बाद आजाद खान ने सुनीता पर चाकू से बुरी तरह वार कर दिए, जिससे वह खून से लथपथ हो गई तथा उसने दम तोड़ दिया. जब सुनीता के पति और बेटे ने बचाने की कोशिश की तो उन्मादी आज़ाद खान ने उन्हें भी नहीं बख्शा और दोनों पर हमला बोल दिया और उन पर चाकू से कई वार किए. बताया जा रहा है कि आरोपी ने सुनीता के पति वीरू पर इतना जोरदार हमला किया है कि उसके पेट को बुरी तरह विक्षत कर दिया, उसकी अंतड़ियां बाहर निकल आईं. गंभीर हालात में दोनों को अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टर्स के तमाम प्रयास के बाद भी सुनीता के पति को बचाया नहीं जा सका.

पुलिस ने कहा कि शाम करीब साढ़े सात बजे मामूली बात पर इलाके में रहने वाली सुनीता और आरोपी का झगड़ा हुआ. महिला ने इसकी जानकारी अपने पति और बेटे को दी तो वो भी वहां पहुंच गए. इसके बाद आरोपी ने उनपर चाकू से कई बार वार किया. पुलिस ने बताया कि पीड़ितों को ख्याला के गुरु गोविंद सिंह अस्पताल ले जाया गया जहां सुनीता को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि गंभीर हालात में जख्मी मृतका के पति तथा बेटे का इलाज शुरू कर दिया लेकिन बाद में उसके पति की भी मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि आरोपी आजाद की तलाश की जा रही है जो कि मौके से फरार हो गया था. बताया गया है कि वीरू चाय की दुकान चलाता था और उसके चार बच्चे हैं. वीरू के भाई छत्रपाल का आरोप है कि आरोपी आजाद बार-बार झगड़ा करता रहता था और बदमाश किस्म का आदमी है. फिलहाल पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और फरार आरोपी आजाद की तलाश कर रही है. उधर देश की राजधानी में सरेआम क्रूरतम वारदात के बाद लोगों में आक्रोश है तथा हिंदूवादी संगठनों ने जल्द आजाद खान की गिरफ्तारी की मांग की है.

Share This Post