“गाय नहीं इंसान पहले” बताने वाले जुम्मन ने बकरी के चलते महिला को केरोसिन डालकर जलाया… खामोश हुआ बुद्धिजीवी वर्ग

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट से एक सनसनीखेज घटना सामने आई है जहाँ जुम्मन नामक एक उन्मादी ने बकरी के चलते एक महिला को मिट्टी का तेल डालकर ज़िंदा जला डाला, जिससे महिला गंभीर रूप से झुलस गई. महिला को बचाने पुहंचे पति और पुत्र भी झुलस गए. सूचना मिलते ही एसपी समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा और महिला समेत तीनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया और मौके से दो आरोपियों को पकड़ा. इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई. यहाँ सवाल खड़ा होता है कि गाय से पहले इंसान की  बात करने वाला तथाकथित बुद्धिजीवी वर्ग इस घटना पर खामोश क्यों है?

घटना चित्रकूट मुख्यालय से पांच किमी दूर कांशीराम कालोनी लोढ़वारा की है. मजदूरी करने वाले श्रीराम ने बताया कि उसके घर में आएदिन पड़ोसी जुम्मन की बकरियां घुस आती हैं. गुरुवार की सुबह भी कई बकरियां घर में घुसकर गंदगी कर दी तो बकरी को भगाकर पत्नी शीला देवी (40) ने पड़ोसी से इसकी शिकायत करने चली गई. दोनों घर के सदस्यों के बीच गाली-गलौज और मारपीट की नौबत आ गई. इसी बीच आरोपी जुम्मन और उसके साथी ने आकर पत्नी पर मिट्टी का तेल फेंक दिया और माचिस से आग लगा दी.

मृतक महिला के पति ने बताया कि वह अपने पुत्र गौरव(14) के साथ पत्नी के कपड़ों में लगी आग बुझाने का प्रयास करने लगा जिससे दोनों झुलस गए. घटना की जानकारी होते ही एसपी मनोज कुमार झा, अपर एसपी बलवंत चौधरी, सीओ रजनीश यादव और कोतवाल अनिल सिंंह कालोनी पहुंचे. आग से झुलसे दंपति और उसके पुत्र को यूपी 100 से जिला अस्पताल पहुंचाया गया. पुलिस टीम ने दोनों आरोपी को दबोच लिया। शाम को इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई. कोतवाल ने बताया कि आरोपी तो दोनों पकड़ गए हैं.

Share This Post