Breaking News:

दलितों को मुसलमान बनने से रोकने वाले रामालिंगम को दी गई दर्दनाक मौत… दक्षिण में कोहराम

दक्षिण भारत के राज्य तमिलनाडु में मजहबी उन्मादियों ने पीएमके नेता रामलिंगम की तालिबानी अंदाज में क्रूरतम तरीके से हत्या इसलिए कर दी क्योंकि उन्होंने इस्लामिक धर्मान्तरणकारियों को हिन्दुओं(दलित) के धर्मान्तरण से रोका था. मामला तमिलनाडु के तंजावूर के कुंभकोणम का है. खबर के मुताबिक़, रामालिंगम की हत्या 5 फरवरी की रात उस वक्त की गई, जब वो अपनी गाड़ी से कहीं जा रहे थे. रामलिंगम की हत्या का आरोप इस्लामिक कट्टरपंथी संगठन PFI पर है.

बताया गया है कि रामलिंगम गांव में धर्मपरिवर्तन का विरोध कर रहे थे, इसलिए कट्टरपंथियों ने उनकी हत्या कर दी. पुलिस के मुताबिक 5 फरवरी की शाम को रामलिंगम की गाड़ी एक मुस्लिम इलाके से गुज़र रही थी. इस दौरान कुछ लड़कों ने उनकी गाड़ी का पीछा किया. उन्हें रोका और फिर तेज़ हथियार से उनके पैर और सिर पर हमला कर दिया. हमले में उन्हें गहरी चोट लगी. PFI के दरिंदो ने रामलिंगम पर धारदार हथियारों से हमला किया, उनके हाथ और पैरों को काटा गया और फिर उनकी हत्या कर दी गयी, उनके 1 हाथ को पूरी तरह काट दिया गया. हालांकि इसके बाद भी वो खुद ही अस्पताल पहुंच गए. लेकिन ज्यादा खून निकलने की वजह से उन्हें सरकारी अस्पताल रेफर कर दिया गया. वहां उनकी मौत हो गई.

धर्मान्तरण रोकने के कारण रामलिंगम की मौत के बाद स्थानीय लोग गुस्से में आ गए और हंगामा शुरू कर दिया. इसके बाद पुलिस ने पूरे कुंभकोणम की सुरक्षा कड़ी कर दी. कई जगहों पर छापे मारे गए. फिर वीडियो फुटेज के आधार पर पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों के नाम हैं मोहम्मद अज़हरुद्दीन, मोहम्मद रियाज़, निजाम अली, सरबुद्दीन और मोहम्मद रियाज़ हैं. पुलिस का दावा है कि गिरफ्तार किए गए पांच लोगों में से एक निजाम अली कट्टर इस्लामिक संगठन माने जाने वाले PFI का सदस्य है.

Share This Post