दलित मिस्त्री सुनील का हत्यारा निकला मौलवी.. इज्जत भी लूटी और जान भी

एक मौलवी से मित्रता करना दलित मिस्त्री सुनील को भारी पड़ गया. मौलवी ने सुनील से मित्रता करके पहले उसकी पत्नी को अपने जाल में फंसाकर शारीरिक संबंध बनाये फिर बाद में सुनील की ह्त्या कर दी. मामला उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के मौहल्ला गड़रियान हरिजन बस्ती का है    जहाँ के रहने वाले 46 वर्षीय राजमिस्त्री सुनील पुत्र जगदीश की घर में सोते समय इमामजस्ते की मूसली से सिर में ताबड़तोड़ वार कर तथा छुरी से काटकर हत्या कर देने की घटना में पुलिस ने एक मौलवी तथा मृतक की पत्नी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

बताया गया है कि मौलवी मृतक सुनील का मित्र था तथा इसी दौरान मौलवी ने सुनील की पत्नी के साथ संबंध स्थापित कर लिए. थाना प्रभारी यशपाल सिंह ने थाने पर प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि मृतक की पत्नी सुधा के पिछले 8 महीने से मोहसीन उर्फ सुफियान पुत्र इकबाल निवासी गांव सिलाना थाना छपरौली जिला बागपत से अवैध सम्बन्ध बने हुए थे, दोनों में फोन पर बातचीत होने के बाद घर पर भी आना-जाना हो गया था. मोहसीन जिला बागपत के शेरपुर लुहारी की मस्जिद में मौलवी है. मोहसीन उर्फ सुफियान व सुधा के अवैध सम्बन्धों का पता जब सुनील को लगा, तो उसने घर में विरोध जताया, जिस पर दोनों पति-पत्नी में कई बार कहासुनी भी हुई. सुधा व मोहसीन ने सुनील से पीछा छुड़ाने के लिए उसकी हत्या की योजना बना डाली.

इसके बाद पूर्व नियोजित षडयंत्र के तहत मोहसीन 18 जनवरी की शाम छः बजे सुधा के घर आ गया तथा घर के एक कोने में बनी लैट्रीन की दुछत्ती में छिपकर बैठ गया तथा देर रात प्रेमीयुगल ने पहले तो जिस्मानी सम्बन्ध कायम किये फिर दोनों ने मिलकर 12 बजे सुनील की हत्या कर दी. सुनील की मौत की अच्छी तरह पुष्टि करने के बाद सुबह सवेरे 4 बजे मौलवी अपने घर भाग गया. लेकिन सूचना मिलने पर पुलिस ने मामले की जांच की तथा दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.  पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त इमामजस्ते की लोहे की मूसली व एक छुरी भी बरामद की है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW