हिन्दू लड़के से प्यार किया मुस्लिम लड़की ने तो दोनों की जान लेने पर उतारू हुए मजहबी कट्टरपंथी.. कहाँ है प्यार के कथित ठेकेदार ?


हिन्दू लड़के से प्यार करने वाली वो मुस्लिम लड़की अपने परिजनों से जान बचाने की गुहार लगाते हुए थाने में बैठी है लेकिन इस घटना पर प्यार-मोहब्बत के स्वघोषित ठेकेदारों ने मौन साध लिया है. प्यार को धर्म, जाति, मजहब से परे बताने वाली कथित फेमिनिस्ट भी इस घटना पर कुछ नहीं बोल रही हैं. शायद इसका कारण ये है कि लड़की का प्रेमी हिन्दू है तथा वह उससे शादी करना चाहती है. लेकिन अगर लड़का-लड़की का मजहब उल्टा होता तो शायद अभी तक देश में भूचाल आ जाता.

मामला हरियाणा के पानीपत का है जहाँ एक मुस्लिम युवती और हिंदू युवक की प्रेम कहानी सामने आई है. दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते हैं लेकिन, युवती के परिजन इसके खिलाफ हैं तथा धमकियां दे रहे हैं. हद तो तब हो गई जब युवती के परिजनों ने उस पर दवाब डालते हुए युवक के खिलाफ दुष्‍कर्म की शिकायत दिला दी. शिकायत के आधार पर जब पुलिस ने जांच शुरू की तो जांच में हैरान करने वाली बात सामने आई. पुलिस जांच में युवती ने महिला थाने में अपनी प्रेम कहानी बयां कर दी.

इसके बाद भी युवती के परिजनों ने इस रिश्ते को मंजूरी देने से मना कर दिया तो युवती ने जान का खतरा बता घर जाने से इन्कार कर दिया. मामले को लेकर जिला महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता ने बताया कि युवती 10वीं तक पढ़ी है और 19 वर्ष की है लेकिन लड़का लगभग 18 वर्ष का है. दोनों चार वर्षों से एक-दूसरे को जानते हैं. लड़का और उसके परिजन युवती को घर की बहू बनाने को तैयार हैं.

रजनी गुप्ता के मुताबिक महिला थाना प्रभारी रेखा ने सुरक्षा मुहैया कराने के लिए युवती को उनके पास भेजा. उसे करनाल वन स्टॉप सेंटर में रखा गया है. इसे लेकर लड़के के माता-पिता ने कहा कि उनकी एक बेटी है. पहले उसकी शादी करेंगे, इसके बाद बेटे की शादी करेंगे क्योंकि लड़का अभी 21 साल का भी नहीं हुआ है. लडके के परिजनों का कहना है कि उन्हें शादी से कोई समस्या नहीं है, वह अपने बेटे की शादी उसी मुस्लिम लडकी से करने को तैयार हैं, जिससे वह प्रेम करता है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...