बुर्के पर प्रतिबन्ध लगाने वाले भारत के शिक्षण संस्थान के मुखिया को मिल रही क़त्ल और मौत की धमकी.. ये हिम्मत भारत में ही क्यों ?


श्रीलंका में आतंकी हमले के बाद जब वहां बुर्का बैन किया गया तो भारत में भी बुर्का बैन की आवाजें उठी. सुदर्शन न्यूज़ ने प्रमुखता से इस मांग को उठाया कि जिस तरह से श्रीलंका में बुर्का बैन किया गया, वैसे ही राष्ट्र की सुरक्षा को देखते हुए भारत में भी बुर्का बैन किया जाना चाहिए. सुदर्शन की इस मांग को देशभर से व्यापक समर्थन मिला तथा इसके बाद केरल की एक मुस्लिम सोसाइटी ने अपने से संबद्ध सभी कॉलेजों में बुर्का बैन कर दिया.

केरल की मुस्लिम सोसाइटी के शिक्षण संस्थानों में बुर्के को बैन किये जाने की घोषणा के बाद इस्लामिक कट्टरपंथी भड़क उठे हैं तथा शिक्षण संस्थान के मुखिया को जान से मारने की धमकियां दे रहे हैं. केरल की कोझिकोड पुलिस के मुताबिक, शनिवार को मुस्लिम एजुकेशनल सोसाइटी (एमईएस) के अध्यक्ष पीए फजल गफूर ने शिकायत दर्ज कराई कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने उन्हें फोन पर जान से मारने की धमकी दी है. इस अज्ञात व्यक्ति ने गफूर को छात्रों के बुर्का पहनकर या चेहरा ढककर नहीं आने वाला सर्कुलर वापस नहीं लेने पर ऐसा करने की धमकी दी है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गफूर को मिली धमकी वाली कॉल किसी इंटरनेशनल फोन नंबर से की गई थी. इसके किसी खाड़ी देश से किए जाने का संदेह है. गफूर की शिकायत पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है और कॉल करने वाले की लोकेशन जुटाने की कोशिश हो रही है. बता दें कि एमईएस करीब 150 शिक्षण संस्थान चलाता है, जिनमें स्कूल से लेकर प्रोफेशनल कॉलेज तक शामिल हैं जहाँ बुर्का पर बैन लगा दिया गया है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...