3 तलाक पर धैर्य खो रही मुस्लिम महिलायें.. ससुर को सरेराह जमकर पीटा

तीन तलाक को अपराध घोषित करने वाले बिल को पास कराने के लिए केंद्र की मोदी सरकार जी जान से जुटी हुई है तो तुष्टीकरण की राजनीति करने वाले दल बिल की खिलाफत कर रहे हैं. लेकिन इस सबके बीच मुस्लिम महिलायें तीन तलाक को लेकर धैर्य खोती हुई नजर आ रही हैं. इसका नजारा उत्तर प्रदेश के संभल में उस समय देखने को मिला जब तीन तलाक पीड़िता महिला ने सरेराह बाइक सवार अपने ससुर के साथ मारपीट शुरु कर दी. सरेराह मारपीट से मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। लोग तमाशबीन होकर खड़े देखते रहे. महिला के तेवरों को देख किसी तरह दुकानदारों ने महिला के ससुर को महिला से बचाया.

2 दिन पहले हरदोई में बच्ची को कार से रौंदता चला गया था फैजान.. लेकिन नेताओं का शोर फैजान के खिलाफ क्यों नहीं ?

खबर के मुताबिक़, नखासा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी ग्रामीण ने कुछ दिन अपनी पत्नी को तलाक दे दिया था. शुक्रवार की दोपहर को महिला बच्चों के साथ पैदल ही यशोदा चौराहे से शंकर कालेज चौराहे की तरफ जा रही थी जबकि महिला का ससुर बाइक लेकर जिला अस्पताल की ओर से यशोदा चौराहे की ओर जा रहा था. यशोदा चौराहा व जिला अस्पताल के बीच जैसे ही महिला को बाइक लेकर ससुर आता दिखाई दिया.

निर्णय अटल हों तो सब होते हैं सहमत.. उलेमा बोले- “सही है, सड़क पर बंद हो नमाज”

ससुर को देखते ही महिला आक्रोशित हो उठी. उसके पास जाकर महिला ने बाइक रुकवा ली और देखते ही देखते ससुर के साथ मारपीट शुरु कर दी. सरेराह सड़क पर महिला व बुजुर्ग के बीच मारपीट होते देख सड़क पर लोगों के भीड़ जमा हो गई. लोगों के पूंछने पर महिला का कहना था कि उसके ससुर ने ही पति को उकसाकर उसे तीन तलाक दिलाकर उसकी जिंदगी बर्बाद करने का काम किया. इस दौरान महिला लगातार ससुर को पीटती रही. मौके पर पहुंचे लोगों ने किसी तरह महिला को समझाकर बीच-बचाव कराकर बुजुर्ग ससुर को उसके चंगुल से छुड़ाया। हंगामा होने के बाद पुलिस कर्मी भी मौके पर पहुंचे और मामला दर्ज करने की बात कही.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post