एक तरफ बेटियां थीं तो दूसरी तरफ शौहर.. बेटियों की इज्जत का दुश्मन बना अब्बा तो मारा डाला उसे.. वो जेल जा रही पर छोड़ गई छाप

मुस्लिम महिला फिरदौस के सामने एक तरफ उसका शौहर मुख्तार था तो दूसरी तरफ उसकी बेटियां थी. आपको बता दें कि मुख्तार अपनी बेटियों से दरिंदगी करता था. फिरदौस ये देखकर हक्की बक्की रह गई. फिरदौस के काफी समझाने पर भी मुख्तार नहीं माना. फिरदौस को समझ ही नहीं आ रहा था कि वह क्या करे, फिर उसने वो किया जिसके मिशाल दी जायेगी. फिरदौस ने अपनी बेटियों की इज्जत के दुश्मन अपने शौहर मुख्तार को मार डाला.

मामला उत्तर प्रदेश के बिजनौर का है. बिजनौर के एसपी संजीव त्यागी ने इस मामले पर बताया कि 8 जुलाई को धामपुर निवासी मुख्तार अहमद की हत्या हुई थी. जिसके बाद मुख्तार के भाई इरफान ने अपने भाई की पत्नी फिरदौस पर पहले दिन से हत्या करने का शक जताते हुए पुलिस में शिकायत की थी. जाँच के बाद फिरदौस को हिरासत में लिया गया, जहाँ पूछताछ के दौरान उसने हत्या करने की बात स्वीकार ली. लेकिन जब उसने अपने इस कदम के पीछे का कारण बताया तो सबके होश उड़ गए.

फिरदौस ने बताया कि उसका निकाह मुख्तार से 8 साल पहले 26 अप्रैल 2011 को हुआ था. वो मुख्तार की दूसरी पत्नी थी. मुख्तार का पहला निकाह नगीना की रजिया से हुआ था, लेकिन रजिया ने मुख्तार के हँगामे करने और मारपीट से तंग आकर ससुराल छोड़ दिया था. जब उसकी शादी फिरदौस से शादी हुई वह तब भी मारपीट करता रहा. फिरदौस के मुताबिक मुख़्तार अपनी बेटियों को हवस का शिकार बनाने की कोशिश करता था, विरोध करने पर उससे मारपीट करता था. इसलिए एक दिन उसने अपनी बेटियों को मुख्तार से बचाने के लिए प्लॉस्टिक की रस्सी से उसका (मुख्तार) गला घोंटकर मार दिया. फिरदौस ने कहा कि कि उसे अपनी बेटियों की इज्जत प्यारी थी, इसलिए ये कदम उठाया.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW