अड़ गये मुस्लिम सैलून वाले, नहीं काटेंगे दलितों के बाल.. 3 मुस्लिम सैलून मालिको पर दर्ज हुई FIR , बंद कर दी दुकानें

जिस खबर को सुदर्शन न्यूज ने प्राथमिकता से दिखाया था अब उसी खबर में शुरू हुई है कार्यवाही लेकिन उसका कोई भी असर उन तमाम लोगों पर पड़ता दिखाई नहीं दे रहा है जिन्होंने ओवैसी और मायावती के दावों पर सवालिया निशान लगाते हुए दलित मुस्लिम एकता के तमाम दावों को ध्वस्त कर के रख दिया है . ये मामला उत्तर प्रदेश के जिला मुरादाबाद का है जहाँ की सेकुलर जनता ने इस बार समाजवादी पार्टी का सांसद भारी वोटो को से चुन कर लोकसभा में भेजा है ..

यहाँ पर मुस्लिम सैलून वालों ने एलान किया था कि वो किसी भी हालत में दलितों के बाद नहीं काटेंगे .. उनको मनाने के लिए पहले दलितों ने और उसके बाद स्थानीय प्रशासन ने तमाम कोशिशे की लेकिन वो सभी के सभी नाकामयाब रहे .. हालात यहाँ तक पहुचे कि दुकाने बंद कर दी गई और FIR तक दर्ज होने लगी .. फिर भी किसी भी हाल में दलितों के बाल न काटने पर आमादा मुस्लिम पक्ष अभी भी अपनी बात पर अड़ा हुआ दिखाई दे रहा है जिस पर प्रशासन और शासन लगातार नजर रखे हुए है .

रविवार को मुरादाबाद जिले के पीपलसाना गांव में तीन मुस्लिम नाइयों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गई, दलित निवासियों ने आरोप लगाया था कि उन्होंने उनके बाल काटने से इनकार कर दिया। तीन नाइयों रियाज़ आलम, इशाक और जाहिद पर आईपीसी और एससी / एसटी (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया। 45 वर्षीय महेश चंद्र के अनुसार, उन्होंने जाति-आधारित भेदभाव को रोकने के लिए शिकायत दर्ज की। उन्होंने कहा, “यह कई वर्षों से चल रहा है, लेकिन अब हमने अपनी आवाज उठाने का फैसला किया है।”

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW