Breaking News:

पूरे भारत मे मुज़फ्फरनगर पुलिस के शौर्य का बजा डंका जिसने ढेर कर दिया है 1 लाख के दुर्दांत इनामी अपराधी आस मोहम्मद को

जहां एक तरफ देश की सीमाओं पर भारत के सैनिजो ने दुश्मन देश को अपनी भुजाओं के दम पर पस्त कर रखा है तो वहीं भारत के अंदर देश की आंतरी सुरक्षा की रीढ़ पुलिस बल ने भी मोर्चा संभाला हुआ है..भारत के आंतरिक शांति के शत्रुओं को बिलों में से निकाल कर उनकी सही जगह पहुचाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस बल दिन रात मेहनत कर रहा है जिसके सुखद परिणाम भी बीच मे देखने को मिल रहे हैं..इसी क्रम में अब मुज़फ्फरनगर पुलिस ने एक मुठभेड़ में मार गिराया है ऐसे दुर्दांत अपराधी को जो बना हुआ था एक बड़े इलाके की शांति और सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा..

आज फिर गरज उठी भारतीय सेना की बंदूकें.. हमेशा के लिए खामोश कर दिए 2 इस्लामिक आतंकी

विदित हो कि अभी कुछ ही समय पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुदर्शन न्यूज से विशेष बातचीत में कहा था कि अगर अपराधी शांति से समाज की मुख्यधारा में जीवन व्यतीत करना चाहेगा तो उसके साथ सरकार का व्यवहार सहयोगात्मक होगा लेकिन अगर कोई अपराधी निर्दोषों को सताता है या इसके भी बाद पुलिस वालों पर गोली चलाता है तो उसका राम नाम सत्य है होना तय होगा.. मुठभेड़ में ढेर हुआ 1 लाख का इनामी आस मोहम्मद इन दोनों अपराधों का दोषी था जिसने कई बेगुनाहों को सताने से ले कर पुलिस पर गोलियां चलाने का भी दुस्साहस किया था ..

शर्म को भी शर्मशार कर गया अस्सू खान,, रमज़ान में बीवी से चटवा रहा अपना थूक

यद्द्पि मुज़फ्फरनगर पुलिस ने उसको सरेंडर करने का पूरा मौका दिया लेकिन उसने गोलियां बरसानी जारी रखी जिसमें एक सिपाही घायल हो गया था, तब प्रतिउत्तर में आत्मरक्षार्थ गोली चलाना पुलिस की मजबूरी बन गई और अंत मे अपराधी आस मुहम्मद ढेर हो गया. मुठभेड़ शहर कोतवाली मुजफ्फरनगर में हुई है। सरधना निवासी आशु उर्फ  आस मोहम्मद उर्फ लंबू (35) पुत्र अब्दुल हक मंगलवार रात मुजफ्फरनगर में अपने साथी के साथ वारदात करने जा रहा था।

मतगणना से पहले बोलीं सैकड़ों अमेरिकी कंपनियां.. हिंदुस्तान में फिर से बने मोदी सरकार ताकि चीन को छोड़ भारत में करें निवेश

मुखबिर की सूचना पर मुजफ्फरनगर शहर कोतवाली पुलिस ने चेकिंग शुरू करा दी। इस दौरान बाइक सवार दो संदिग्ध लोगों को पुलिस ने रुकने का इशारा किया। इस पर बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। एक गोली सिपाही अनिल के हाथ में लगी। इसके बाद गोली लगते ही पुलिस टीम ने मोर्चा संभाल लिया। पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक बदमाश को गोली लगी, जबकि दूसरा जंगल में फरार हो गया। मुठभेड़ की जानकारी लगते ही मुजफ्फरनगर में कई थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। बदमाशों की तलाश में रात में कांबिंग कराई गई। एक बदमाश घायल अवस्था में झाड़ी में मिला, जबकि दूसरे का सुराग नहीं लगा। पुलिस ने घायल बदमाश को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया।

मतगणना से पहले ही सुलग रहा बंगाल.. भाटपारा में भयानक हिंसा, ट्रेन पर फेंके गये देशी बम

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW