उत्तर प्रदेश का एक ऐसा मदरसा जहाँ सैकड़ों बच्चियों के साथ हो चुकी है दरिंदगी.. चेयरमैन के खुलासे सनसनी

मदरसा को तालीम का पाक स्थल माना जाता है. मदरसों के बारे में प्रचार किया जाता है कि मदरसों में बच्चों को संस्कार दिए जाते हैं, तालीम सिखाई जाती है ताकि ये छोटे बच्चे आगे चलकर मानवता के हित के लिए कार्य कर सकें. लेकिन जरा सोचिये कि तालीम के नाम पर, शिक्षा के नाम पर चलने वाले मदरसों में बच्चियों की, महिलाओं की इज्जत लूटी जाये तथा ये कुकृत्य कोई और नहीं बल्कि तालीम सिखाने वाला तथाकथित मौलाना/मौलवी ही करें तो क्या उस जगह को पाक कहा जा सकता है?

जिन केन्द्रीय बलों से सबसे ज्यादा समस्या थी ममता बनर्जी को, उन्हीं के हवाले हुए पश्चिम बंगाल

ये तथाकथित मौलाना जो खुद को मानवता का पैरोकार बताते हैं लेकिन इसकी आड़ में ये किसी न किसी बहाने से बच्चियों का शोषण करते हैं, आखिर क्यों? आखिर क्यों ऐसे लोगों के खिलाफ कोई फतवा आदि जारी नहीं किया जाता?? उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में स्थित ये वो मदरसा है जहाँ पर बच्चो को ये कह कर भेजा जाता था कि वहां पर वो पढ़ाई करेंगे और उनको दीन आदि की तालीम मिलेगी लेकिन ये मदरसा बच्चियों के यौन शोषण का अड्डा बन चुका है तथा इस मदरसे में एक नहीं बल्कि सैकड़ों  बच्चियों के साथ दरिंदगी हो चुकी है.

एक चायवाला प्रधानमंत्री बना था, अब दूसरा चायवाला बना मेयर.. जानिये संघर्ष की एक और जीवंत कथा

हम बात कर रहे हैं मऊ जिले में घोसी स्थित मदरसा शम्सुल ओलुम की जिसके  बारे में वहां के चेयरमैन जो खुद एक मुस्लिम है..ने हैरान करने वाली बात कही है. चेयरमैन मोहम्मद कय्यूम ने कहा कि मदरसा शम्सुल ओलुम में प्रबंधक हाफिज मोहम्मद नासिर सहित तीन लोगों ने 11 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था जो कोई पहला मामला नहीं है बल्कि कई सालों से इस तरह की घटना होती चली आ रही है.

उत्तर प्रदेश का एक ऐसा मदरसा जहाँ सैकड़ों बच्चियों के साथ हो चुकी है दरिंदगी.. चेयरमैन के खुलासे सनसनी

उन्होंने कहा कि और भी जिन छात्राओं के साथ मदरसे में पाप हुआ है, उसकी जांच होनी चाहिए. इस मामले में प्रबंधक हाफिज नासिर सहित तीन लोग जेल में हैं, लेकिन मदरसे के उपर अबतक कोई कार्रवाई नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि इस मदरसे में देश के कोने-कोने से छात्राएं पढ़ने आते हैं, लेकिन वो यहां सुरक्षित नहीं हैं तथा उनके साथ मदरसे में दरिंदगी की जाती है. उन्होंने कहा कि मदरसा शम्सुल ओलुम की मान्यता रद्द की जानी चाहिए.

मुख्य न्यायाधीश पर यौन शोषण के आरोप के बीच आया प्रशांत भूषण का नाम.. वही भूषण जो कर रहे हैं रोहिंग्याओं की पैरोकारी

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post