Breaking News:

वाहन ओवरटेक के मामले को जोड़ दिया “जयश्रीराम” कहने से.. रची जा रही भगवा आतंक से भी गहरी साजिश


कभी भगवा आतंक का नाम लेकर हिन्दुओं को बदनाम करने के लिए जिस तरह से तमाम नापाक साजिशों को अंजाम दिया गया था, अब हिन्दुओं के खिलाफ उससे भी बड़ी साजिशें रची जा रही हैं. मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर का है जहाँ के बर्रा छह में हरी मस्जिद के पास रहने वाले मोहम्मद लुकमान ने आरोप लगाया था कि जब वह दोपहर करीब दो बजे वह उस्मान स्थित मदरसे से बाइक से वापस घर लौट रहा था तभी बर्रा छह में एक दुकान के सामने दो-तीन बाइकों पर आए युवकों ने उसे रोका और उसकी टोपी उतारकर अभद्रता करने लगे.

दरिंदगी का चेहरा बन रहे एक ही सोच वाले.. महिला का अपहरण कर 2 दिनों तक बलात्कार किया.. दरिंदों के नाम सरफराज और बबलू सैफी

लुकमान का आरोप था आरोपी युवकों ने उससे जय श्रीराम का नारा लगाने के लिए कहा और जब उसने ऐसा करने से मना कर दिया तो आरोपियों ने उसकी पिटाई कर दी. उसने बताया कि जब राहगीर जुटने लगे तो आरोपी फरार हो गए. लुकमान के इस आरोप के हड़कंप मच गया तथा पुलिस ने जांच शुरू की. पुलिस की जांच में जो बात सामने आई वो काफी हैरान करने वाली थी. एसएसपी अनंत देव तिवारी का कहना है कि घटना की वजह जबरन धार्मिक नारा लगवाना नहीं, बल्कि वाहन ओवरटेक करने के विवाद में मारपीट का है.

आपदा से निपटने में भारत को संसार का सबसे प्रमुख देश बनायेंगे- अमित शाह

पुलिस ने इस मामले में सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली है तथा इसमें भी लुकमान के आरोपों की पुष्टि नही होती. सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि मोहम्मद लुकमान व आरोपी युवकों के बीच गाड़ी ओवरटेक करने को लेकर विवाद शुरू हुआ था, जिसके बाद हाथापाई हो गई. बर्रा थाने के एसओ सतीश कुमार सिंह ने कहा कि ओवरटेक करने पर हुए झगड़े में कुछ लोगों ने मुस्लिम युवक को थप्पड़ मार दिए थे. हमने शुक्रवार रात में ही मुकदमा दर्ज कर दिया था। आरोपियों की तलाश सीसीटीवी फुटेज के जरिए की जा रही है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share