Breaking News:

पवित्र देवभूमि प्रयागराज के दुर्दांत अपराधी अतीक अहमद को अदालत ने दिन में दिखाए तारे.. सभ्य समाज में हर्ष की लहर

देवभूमि प्रयागराज की पवित्र धरती को कईयों के खून से रंगने वाले अतीक अहमद को भले ही राजनीती के चलते कुछ नेताओं ने अपने मंचो पर जगह दी रही हो और उनको सम्मान के साथ जी आदि बुलाते रहे हों लेकिन योगी आदित्यनाथ का शासन आते ही वो सब कुछ शुरू हुआ जिसको कहा जाता है न्याय . अपने गृह जनपद की जेल में मौज करते अतीक को पहले तो कई किलोमीटर दूर भेजा गया और उसके बाद अदालत में उत्तर प्रदेश पुलिस की कड़ी पैरवी भी हुई ..

सवर्णों के वोट के लिए ताल ठोंक रहे राजा भैया ने तब क्या किया था जब सब इंस्पेक्टर “शैलेन्द्र सिंह” की क्षत्राणी पत्नी ने अपने सुहाग के लिए मांगी थी उनसे मदद ?

इसके चलते अतीक अहमद ने अपनी बीबी को ढाल बनाया जबकि इस से पहले वो न जाने कितनी औरतों के सुहाग उजाड़ चुका था . उनकी बीबी ने पहला तो मुसलमान होने और दूसरा औरत होने का मनोवैज्ञानिक कार्ड खेला पर वो सब योगी सरकार में असफल रहा और अदालत के साथ पुलिस अपना काम करती रही .. इतना ही नहीं , उस दुर्दांत अपराधी की कई सम्पत्तियों पर बुलडोजर भी चला लेकिन बीच बीच में उसकी जेल से अपराधिक खबरे आती रहीं जो उसकी फितरत को दर्शाता है .

आतंकियों का गढ़ बना सेकुलर श्रीलंका.. सुबह फिर हुआ एक ब्लास्ट

लेकिन अब अदालत ने भी न्याय का ऐसा हथौड़ा चला दिया है जिसके बाद खुद को बाहुबली सुन कर खुश होता ये अपराधी चित्त जैसा हो गया है . सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें उत्तर प्रदेश की नैनी जेल से गुजरात जेल ट्रांसफर करने का आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने रियल इस्टेट डीलर मोहित जायसवाल से मारपीट के मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी है. आपराधिक मामलों में दोषी नेताओं पर पूरी उम्र के लिए प्रतिबंध लगाने और निर्वाचित प्रतिनिधियों की संलिप्तता वाले आपराधिक मामलों के मुकदमे की तेजी से सुनवाई के लिए विशेष अदालतें गठित करने का अनुरोध करने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा है.

भारतीय सेना के बाद अब भारत की ख़ुफ़िया एजेंसियों ने किया कुछ ऐसा जो दुनिया को चौंका गया .. मामला श्रीलंका इस्लामिक आतंकी हमले से जुड़ा हुआ

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post