Breaking News:

स्कूल में सेकुलर बन कर भर्ती मुस्लिम टीचर ने अब लडकियों के लिए लागू किया ये कानून

उन्होंने जब इन्टरव्यू दिया था तब उनको कोई भांप भी नहीं पाया था कि उनके मन में क्या चल रहा है लेकिन जैसे जैसे समय बीता वैसे वैसे उनकी सोच किसी ने किसी रूप में सबके सामने आने लगी . स्कूल में पढाते समय अपनी तमाम मजहबी बातो का उदाहरण देना और बच्चो को उसी तरफ ले जाने की चेष्ठा करना . जब शुरुआत में किसी ने ध्यान नहीं दिया तो उन्होंने सोचा कि वो अपने अभियान में सफल हैं और उसी के चलते उन्होंने अपने कदम को आगे बढा दिया एक नये आदेश के साथ . इस्लामिक विचारधारा को सेक्युलर देश और धर्मनिरपेक्ष तंत्र में पोषित करने वाले इन कथित अध्यापक का नाम है A B हन्नान..

ये मामला है बंगलादेशियो की घुसपैठ और उनके अपराधिक हरकतों से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य असम का . यहाँ पर सीधे सीधे इस्लामिक कानून का हवाला देते हुए छात्राओ को फरमान दिया गया है कि वो स्कूल में हिजाब पहन कर ही आएँगी .. इतना ही नहीं , अपनी सोच के तमाम अन्य टीचरों को प्रभावित करने और उन्हें भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करने की सोच के साथ उस टीचर ने इस आदेश को जारी करने के बाद छात्राओं के साथ सेल्फी भी ली और उसको फेसबुक पर भी पोस्ट कर दिया। ये पूरा मामला है करीमगंज के कनिशहेल स्थित ‘इस्ट पॉइन्ट पब्लिक स्कूल’ का .

जब ये मामला वायरल हुआ तो विवाद शुरू हो गया . टीचर द्वारा फेसबुक पर फोटो पोस्ट करने के बाद, वह तुरंत वायरल हो गई, जिसका कई लोगों विरोध किया। इस घटना को लेकर स्कूल प्रशासन का कहना है कि इसमें स्कूल प्रबंधन का कोई लेना देना नहीं है। हालांकि बाद में विवाद बढ़ता देख कर हिजाब अनिवार्य करने वाले इस्लामिक विचारधारा के सेक्युलर बने टीचर ने अपने पोस्ट को डिलीट कर ली है .. हिजाब का इस्लामिक कानून बच्चो पर लागू करने वाले जिसमें उन्होंने लिखा था कि ‘मेरी छात्राओं को बुरी निगाहों से बचाने के लिए उनको हिजाब पहनकर आना अनिवार्य कर दिया है।’

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW