कुल 63 बच्चे व नाती पोतियों के बाद अब एक नया निकाह किया है 66 साल के मुख्तियार ने.. उसके हिसाब से अभी ये संख्या कम है

६६ साल की उम्र में मुख्तियार के कुल 63 बच्चे व नाती-पोतियाँ थे. इसमें से उसके 14 बच्चे व 49 नाती-पोते हैं लेकिन इसके बाद भी उसे लगा कि अभी ये संख्या कम है तो उसने एक और निकाह कर लिया ताकि वह और ज्यादा बच्चों को पैदा कर सके. मामला नागौर जिले के मेड़ता सिटी का है जहाँ 66 साल के मुख्त्यार स्यां भाटी ने 55 साल की आमना खातून से निकाह किया है.

जयश्रीराम बोलते ही गर्दन पर चल गई कटार.. क्या ये नया सेक्यूलर भारत निर्माण हो रहा बंगाल में ?

प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक़मुख्त्यारस्यां भाटी के 14 बच्चे और 49 नाते-पोतियां हैं, जबकि मूलत: जयपुर और फिलहाल अजमेर निवासी आमना के एक बेटा है. इन दोनों का निकाह हाल ही में ईद वाले दिन हुआ. बताया गया है कि मेड़ता शहर के कुंडल सरोवर की पाल पर स्थित साइयों का मोहल्ला निवासी मुख्त्यारस्यां भाटी की पत्नी भूरी बानो का 8 साल पहले निधन हो गया था. अजमेर निवासी आमना खातून के पति का भी कई साल पहले देहांत हो चुका है. मुख्त्यार की 14 संतानों में 7 बेटे और 7 बेटियां हैं.

11 जून: जन्मजजयंती अमर हुतात्मा रामप्रसाद बिस्मिल.. भारतमाता के वो सपूत जिन्होंने भुने चने खा कर तब जंग लड़ी जब कुछ के कपड़े विदेश जाते थे धुलने

अपनी पहली पत्नी की मौत के बाद मुख्त्यारस्यां परेशान रहता था कि अब वह और बच्चे पैदा कैसे करेगा. बीते रमजान महीने में मुख्तियार अजमेर गया जहाँ उसकी मुलाक़ात आमना खातून से हुई. थोड़ी बातचीत के बाद ही बच्चे पैदा करने के लिए व्याकुल मुख्तियार ने आमना से निकाह का प्रस्ताव रख दिया, जिसे आमना ने स्वीकार कर लिया. इसके बाद ईद पर दोनों ने निकाह कर लिया. 14 बच्चों के अब्बू तथा 63 नाती-पोतियों के दादाजान ६६ साल के म्युख्तियार के निकाह से आसपास के लोगों के मन में यही सवाल है कि आखिर इस उम्र में तथा इतने बच्चे होने के बाद भी मुख्तियार और बच्चे क्यों पैदा करना चाहता है? तथा इसी सोच पर काबू करने के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून की आवश्यता है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW