नीतीश ने कांग्रेस को दिखाई आँखें… बोले- उन्हें राजनीति व सिखाये कांग्रेस

पटना में पार्टी के तरफ से आयोजित राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर लालू प्रसाद यादव (राजद) की तरफ से न्योता मिला तो रैली में शामिल होंगे। इसके साथ ही आयोजित कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने कांग्रेस पर हमला करते हुए जमकर खोरी-खोटी सुनाई। नीतीश ने कांग्रेस पार्टी के नेताओं पर जमकर शब्दबाण छोड़ा।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सबसे पहले गाँधी की विचारधारा को अपने एजंडे से बहार फेक कर पंडित जवाहरलाल नेहरू के विचारों को अपनाया, कुछ दिनों बाद उसको भी तिलांजलि दे दिया। नीतीश कुमार ने कांग्रेस को नसीहत देते हुए कहा कि हमको कांग्रेस ना बताये की हमको क्या करना है क्या नहीं, हमको कांग्रेस से सिखने की जरूरत नहीं है। नीतीश ने अपने प्रधानमंत्री पद के अफवाहों को लेकर ख़ारिज करते हुए कहा कि ‘मैं अपने 18-20 सांसदों के लेकर कभी भी पीएम के पद का सपना नहीं देखता और न ही मैं पीएम की रेस में हूं।’ 
उन्होंने कहा कि ‘मैं हमेशा अपने सिद्धांतों पर चलता हूं और मुझे किसी का पिछलग्गू बनना नहीं आता है। सीएम नीतीश ने कहा कि ‘मैं बिहार में ही राजनीति करूंगा और बिहार के विकास करूंगा। नीतीश कुमार ने कहा कि राजद पार्टी के बारे में कहा कि सभी पार्टियों का अपना अपना कार्यक्रम होता है उस कार्यक्रम में हमको उसपर कुछ नहीं कहना है। राजद की रैली मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी हमको बुलाएगी तो हम उसमें जरूर जाएंगे। हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि इस रैली से जदयू को कोई मतलब नहीं है।
Share This Post