अलगाव की राह पर नीतीश. लालू बुलाते रहे रैली में पर नहीं आये वो

आरजेडी और जेडीयू के बीच मतभेदों की खाई और चौड़ी हो गई है। 27 अगस्त को पटना में होने वाली लालू प्रसाद यादव की रैली ‘बीजेपी हटाओ, देश बचाओ’ रैली में जेडीयू ने शामिल न होने का फैसला किया है। जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक ने कहा कि आरजेडी की सहयोगी पार्टी होने के बावजूद जेडीयू एक पार्टी के तौर पर रैली में शामिल नहीं होगी। जेडीयू नेता श्याम रजक ने कहा कि 27 अगस्त को होने वाली रैली महागठबंधन की नहीं बल्कि केवल आरजेडी की है। 
ऐसे में जेडीयू इस रैली में शामिल नहीं होगी। आपको बता दें कि जेडीयू प्रेसिडेंट और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस संबंध में निमंत्रण मिलेगा, जिसके बाद वहीं निर्णय लेंगे कि रैली में शामिल होना है या नहीं। श्याम रजक ने नीतीश कुमार के रैली में शामिल होने के सवाल पर कहा कि जब राजद की तरफ से निमंत्रण आएगा तब इस पर विचार किया जाएगा। यह पूरी तरह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निर्भर करेगा कि वो राजद की रैली में शामिल होते हैं या नहीं। 
बता दें कि 27 अगस्त को राजद की रैली होनी है। लालू प्रसाद 5 जुलाई को रैली की तैयारी की समीक्षा करेंगे। इस रैली का नाम भाजपा भगाओ, देश बचाओ है। जानकारी के मुताबिक, इस रैली कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक, हरियाणा के पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला और पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा इस रैली में शामिल हो सकते हैं।
Share This Post