Breaking News:

2 साल की फूल जैसी बच्ची के साथ बलात्कार किया 55 साल के नरपिशाच नियाज़ ने, पूरा गाँव कहता था “चाचा”.. भागने नही दिया सतर्क नॉएडा पुलिस ने

हवस की आग में जलते अधेड़ दरिन्दे नयाज को नोएडा पुलिस ने भेजा सलाखों के पीछे .. जबकि गाँव के बच्चे उसे “चाचू जान ” कहकर बोलते थे .. सेब का लालच देकर 2 साल की मासूम के साथ किया दुष्कर्म … ये सिर्फ वो दरिंदा नहीं था जो हवस की आग में धूं धूं कर के जल रहा था बल्कि ये वो साजिशकर्ता था जो समाज में फैलाना चाह रहा था तनाव और सम्भवतः खेलना चाहता था साम्प्रदायिकता का गंदा खेल. इसके दुष्कर्म की शिकार बनी एक 2 साल की मासूम बच्ची..
 वहीँ समाज ने भी एक शिष्टाचार दिखाया आरोपित को पकड़ कर पुलिस को सौपा। जबकि आरोपित ने एक सम्भावित तनाव से जिसकी इसने पूरी तैयारी कर रखी थी ..लेकिन नोएडा पुलिस ने इस हवसी दरिंदा भेज दिया अपनी असली जगह अर्थात जेल.. विदित हो कि हवस की आग में जलते इस दरिन्दे का नाम है नयाज जिसके अब्बा का नाम रज्जाक है . ये जारचा कोतवाली क्षेत्र के कस्वा जारचा गौतमबुद्ध नगर का रहने वाला है .. यहाँ चौकन्नी नॉएडा की जारचा थाने की पुलिस ने उसको भागने नहीं दिया.
जारचा कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार राजपूत की सक्रियता व त्वरित कार्यवाही से इस अपराधी को जारचा पुलिस ने मासूम से दुष्कर्म के करने धारा 376(2)झ, 5/6 पॉक्सो अधिनियम के तहत जेल भेजा है..  इस मामले में पीडित परिवार दूसरे धर्म से है लेकिन सहिष्णु और सौहार्दप्रिय समाज की समझदारी व पुलिस की सक्रियता व सूझबूझ से कानून के साथ सरकार में पूरा विश्वास जताने की आदत रखने वालों ने किसी भी प्रकार का कोई साम्प्रदायिक तनाव क्षेत्र नही फैलने दिया ..
सुदर्शन न्यूज जारचा संवाददाता विक्रम जी से मिली जानकारी के अनुसार गत 19 सितम्बर को जारचा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में फलों की फेरी लगाने वाला नियाज़ असल में क्षेत्र के मासूम बच्चो को चिन्हित करता था .. किसी मासूम को अपना टारगेट बनाने के बाद फिर गांवों में जाकर छोटे मासूम बच्चो को लालच देकर बच्चो से दुष्कर्म करने का प्रयास करता था.. मिली जानकारी के अनुसार आरोपित नियाज गांवों में फलों की ठेली लगाकर फल बेचता था जिसके ऊपर स्थानीय लोगों को भी शक नहीं हुआ .
ये घटना गत 19 सितम्बर की है जब समय सुबह 9 बजे हो रहे थे .. उस समय नियाज़  गांव में समान बेच रहा था। तभी कुछ बच्चो के साथ 2 वर्षीय मासूम भी ठेली वाले के पास पहुच गई। बच्चो के जाने के बाद मासूम को अकेली देख आरोपित ने मासूम को सेब फल देने का लालच देकर अपने साथ सुनसान स्थान पर ले गया और दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। कुछ देर बाद मासूम जब अपने घर पहुँची तो उसके कपडों पर खून लगा देखा मासूम की माँ परेशान हो गई।
गली में फल बेच रहे नियाज़ को देखकर मासूम रोने लगी और आरोपित की तरफ इशारा करने लगी। उसके आधार पर सन्देह होने पर लोगो ने आरोपित को पुलिस को सौप दिया। कोतवाली प्रभारी का कहना है कि पूछताछ में आरोपित नियाज 55 वर्षीय पुत्र रज्जाक निवासी जारचा ने अपना ज़ुर्म कबूल कर लिया है। बच्ची के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा। नियाज़ को जेल भेज दिया गया है और पुलिस ने पीडिता के साथ क्षेत्र की बाकी अन्य महिलाओं व बच्चियों को भी नियाज जैसे अन्य दरिंदो से सुरक्षा का भरोसा दिलाया है..
इस मामले में जहाँ नियाज़ जैसे दरिंदो के ऊपर पूरा समाज आक्रोशित है तो वहीँ जारचा पुलिस की त्वरित व न्यायोचित कार्यवाही समाज में सराहना का विषय बनी हुई है .
सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –
राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW