एक बार फिर मुजफ्फरनगर दंगो की सुगबुगाहट… भाजपा विधायकों पर गैर जमानती वारंट

मुजफ्फर नगर दंगा ने उत्तर प्रदेश को ना भरने वाले घाव दिए है. घाव ऐसे जो नासूर है, घाव ऐसे जो रह रह के हरे हो जाते है. ज्ञात हो कि मुजफ्फर नगर दंगे कि चर्चा एक बार फिर जोरो पर है. विदित हो कि उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर दंगे से जुड़े दो अलग-अलग मामलों में पेश न होने पर अदालत ने मंत्री, सांसद और विधायक समेत 15 लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है. अगली सुनवाई 19 जनवरी को होगी.

आपको याद दिलाते चले कि 31 अगस्त 2013 को मुजफ्फरनगर के गांव नगला मंदौड़ में आयोजित पंचायत में भड़काऊ भाषण देने, धारा 144 के उल्लंघन समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था. और कहा जाता है या फिर एक साजिश के तहत ऐसी भार्न्तिया फैलाई गई कि इसी बैठक के बाद हिंसा भड़क उठा और मुजफ्फर नगर जल उठा.
सात सितंबर 2013 को नगला मंदौड़ में फिर पंचायत हुई थी.जिसमें विभिन्न धाराओं में गन्ना राज्यमंत्री सुरेश राणा, सांसद कुंवर भारतेन्द्र सिह, सरधना से भाजपा विधायक संगीत सोम तथा साध्वी प्राची सहित 11 लोगों को नामजद किया गया था.

पंचायत को लेकर विभिन्न आरोपों में दर्ज मुकदमे की सुनवाई एसीजेएम-2 मधु गुप्ता के न्यायालय में चल रही है.
आपको बताते चले कि इस मामले में दर्ज मुकदमों में आरोपियों के खिलाफ समन जारी हुए थे. सुनवाई की तिथि 15 दिसंबर तय कर दी गई थी. लेकिन आरोपी अदालत में हाजिर नहीं हुए. अदालत ने शनिवार को 15 के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए हैं.

Share This Post

Leave a Reply