केजरीवाल के मुस्लिम विधायक बेकाबू.. अमानतउल्लाह खान के कारनामो के बाद अब चर्चा में हाजी इशहाक जिन पर दर्ज हुई FIR


इन तमाम मामलों से जाना जा सकता है केजरीवाल का अपने खुद के विधायको पर शासन और अनुशासन . ये वही मुख्यमंत्री हैं जो आये दिन दिल्ली पुलिस या केंद्र सरकार के अधीनस्थ आने वाले विभागों में अनुसाशन की कमी आदि पर भाषण दिया करते हैं लेकिन जब बात इनके खुद के सहयोगी विधायको की हो तो दिखाई देने लगता है वो सब कुछ जो विपक्ष इन पर आये दिन आरोप के रूप में लगाया करता है .. क्या कानून तोड़ना अब अरविन्द केजरीवाल के विधायको की आदत हो चुकी है .

गांधी परिवार पर अब योगी का वार.. जानना चाहा कि देश की धैर्य की सीमा कब तक ?

ध्यान देने योग्य है कि इस से पहले अपने सहयोगियों और साथियों को एक एक कर के बाहर का रास्ता दिखाने के बाद आम आदमी से असंतुष्ट विधयाको और नेताओ की कतार लग गई.. इस असंतुष्टि के पीछे एक बड़ी वजह एक और है कि अरविन्द केजरीवाल ने कुछ गिने चुने विधायको को एकतरफा बढावा दिया है और उसके चलते बाकी सब खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं . केजरीवाल के खासमखास विधायको में अमानतउल्लाह खान और हाजी इशरक प्रमुख हैं ..

पवित्र वेदों, रामायण व श्रीमद्भागवत गीता का विरोध करने वाले अर्बन नक्सली अपने घरो में रखते थे ये किताब.. जानिए किस के भक्त थे वो वामपंथी ?

नई दिल्ली के ब्रह्मपुरी इलाके में एक बार फिर से केजरीवाल के विधायक ने कानून को तोडा और उसी के चलते मकान की सील तोड़ने के आरोप में सीलमपुर से आम आदमी पार्टी के विधायक हाजी इशराक खान के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। विधायक पर नगर निगम की ओर से विवादित मकान पर लगाई गई सील तोड़ने का आरोप है। सोमवार को सील तोड़ने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो मंगलवार को निगम अधिकारियों ने न्यू उस्मानपुर थाने में शिकायत दी। बाद में प्रॉपर्टी को दोबारा सील कर दिया गया.  केजरीवाल के विधायक हाजी ने ये वारदात गौतमपुरी वार्ड के ब्रह्मपुरी गली नंबर-10 में की है जिसके चलते आम जनमानस भी आक्रोशित है ..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...