रामपुर में अखिलेश यादव को घुसने न दिया जाय.. करा सकते हैं दंगा, तभी चुना है मोहर्रम का दिन – कांग्रेस


जिन अखिलेश यादव ने कभी कांग्रेस के साथ चुनाव लड़ कर उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार बनाने का सपना देखा था अब वही कांग्रेस उनसे इस तरह से अलग हो गई है कि उनको सीधे सीधे दंगे की साजिश से जोड़ना शुरू कर चुकी है.. यद्दपि आम जनता के सूत्रों के अनुसार कांग्रेस की ये मांग जायज भी है कि अखिलेश यादव ने रामपुर आने के लिये जो मोहर्रम का समय चुना है वो किसी भी रूप में समाज के हित में नही हो सकता है , अब सवाल है कि क्या आजम हित के लिए अखिलेश समाज हित की बलि चढ़ाएंगे ?

ध्यान देने योग्य है कि कल मुहर्रम के दिन प्रत्येक जिले का प्रशासन उच्च स्तर पर मुस्तैद है . अधिकारी बिना खाए पिए मेहनत कर के ताजिया जुलूस सकुशल निबटने की कोशिश कर रहे हैं . इसी में एक नई समस्या अखिलेश यादव पैदा कर रहे हैं जो समाज और प्रशासन दोनों के लिए सरदर्द से कम नहीं है . जब अखिलेश यादव ने मुस्लिम बहुल कहे जाने वाले रामपुर में आजम खान के समर्थन में मुहर्रम के दिन कूच करने का एलान किया था तब ही सवाल खड़े होने शुरू हो गये थे कि उनकी मंशा आखिर क्या है .

अब उनकी मंशा का पर्दाफाश कभी उनके सहयोग में रहे दल कांग्रेस ने किया है .  कांग्रेस के फैसल लाला ने यूपी गवर्नर समेत ,डीजीपी,एडीजी, समेत जिले और मंडल भर के अफसरानों को पत्र भेजकर कहा है कि अखिलेश यादव रामपुर पहुँचकर दंगा करा सकतें हैं।उनके अनुसार अखिलेश यादव के रामपुर आने से रोका जाए, जिस दिन वह यहां आ रहे हैं मुहर्रम का बड़ा त्योहार है जिसके चलते रामपुर में  कोई भी घटना घट सकती है।

ये भी संज्ञान में रखना जरूरी है कि इस से पहले सपा के विधायक आज़म खान के समर्थन में आये टकराव की स्थिति पैदा हुई दो सौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई हैं। बतौर कांग्रेस नेता सांसद आज़म खान पर 80 केस दर्ज हैं उन्हें बचाने या उनके समर्थन में आएंगे तो यहां का माहौल खराब होगा. अखिलेश यादव के रामपुर आने का विरोध करने के बाद अंदर ही अंदर ये माना जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी भी आजम खान के खिलाफ हो रही कार्यवाही से कहीं न कहीं सहमत है ..

यद्दपि अखिलेश यादव की जिद समाज को हानि न पहुचाये इस पर रामपुर का जिला प्रशासन लगातार नजर रखे हुए है . माना ये भी जा रहा है कि अखिलेश यादव पाने पिता मुलायम सिंह यादव से मिला आदेश पूरा करने आ रहे हैं जिन्होंने आजम खान के लिए उठ खड़े होने का फरमान जारी किया है . रामपुर की आम जनता अखिलेश यादव के एलान से जरा सा भी नहीं प्रभावित है . इसके पहले के प्रदर्शन में भी समाजवादी पार्टी को रामपुर की स्थानीय जनता का समर्थन नहीं मिला था और बाहरी लोगों को वहां पहुचने का आह्वान किया गया था जो बाद में रामपुर पुलिस की मुस्तैदी से असफल रहा था.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...