CRPF जवानों की बदल गई बन्दूकें. जानें पहले क्या थी और अब क्या होंगी नक्सल व इस्लामिक आतंक से लड़ते उन वीरों के हाथों में…

माओवादी हिंसा प्रभावित इलाकों में नकसल आये दिन पुलिस वालों पर हमला करते हैं। पुलिस वालों की मौत उनके लिए खेल हो गई है। सुरक्षा के लिए लगे हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान को जल्द ही एके-47 और एके-56 जैसे आधुनिक हथियारों से लैस किया जाएगा। आधुनिक और नए हथियारों से लैस सीआरपीएफ जवानों की पहली टुकड़ी जल्द ही छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में नजर आएगी।

गौरतबल है कि अभी सीआरपीएफ के जवानों को इंसास राइफल मुहैया है। जिसके रख रखाव और निशाने को लेकर कई तकनीकी खामियों आला महकमे को बताई गयी थी। जिसके बाद ये बड़ा फैसला लिया गया। इंसास राइफल की जल्द ही सीआरपीएफ से विदाई होगी। इस कवायद की शुरुआत दिल्ली स्थित सीआरपीएफ मुख्यालय से शुरू कर दिया गया है।
इस राइफल की पहली खेप माओवादी हिंसा प्रभावित दक्षिण बस्तर के दंतेवाड़ा और सुकमा जिले में तैनात सीआरपीएफ जवानों को मुहैया कराई जाएगी। इसके बाद शेष इलाकों में सीआरपीएफ को मुहैया होगी। विशेष आधुनिक हथीयारो से लैस जवान अब माओवादियो से अचे से निपट पाएंगे जिनके पास पहले से ही आधुनिक हथियार है। 
Share This Post

Leave a Reply