अब सहारनपुर से शुरू हुआ हिन्दुओं का पलायन.. घरों पर लगे पोस्टर- “यह मकान बिकाऊ है”


कैराना का नाम तो आप सभी ने सुना ही होगा. वही कैराना जो पश्चिमी उत्तर प्रदेश का में स्थित है तथा जहाँ से मजहबी उन्मादियों के कहर से भयभीत होकर हिन्दुओं के पलायन का मामला सामने आया था तो देशभर की सियासत में भूचाल आ गया था. जिस तरह से मजहबी उन्मादियों ने कैराना से हिन्दुओं को पलायन के लिए मजबूर किया था, ठीक वैसी ही स्थिति उत्तर प्रदेश के ही सहारनपुर में बन रही है, जहाँ मजहबी उन्मादियों के भय से हिन्दू पलायन करने को मजबूर रहे हैं तथा उन्होंने अपने घरों पर “यह मकान बिकाऊ है” के पोस्टर लगाये हैं.

मायावती के करीबी व समाजवादी गठबंधन के प्रत्याशी पर महिला से छेड़छाड़ का आरोप… चुनाव जीतने से पहले ही शुरू हुआ उन्माद

आपको बता दें कि सहारनपुर देहात कोतवाली क्षेत्र के ग्राम दाबकी के निकट शुभ सिटी के नाम से नई कॉलोनी बनी है. जहां अभी तक न तो सड़क है और न ही बिजली की लाइन हैं. लोगों ने बल्लियों को खंभे के रूप में इस्तेमाल कर घरों तक बिजली पहुंचाई है. इसी कॉलोनी में मदनलाल समेत अन्य परिवार भी रहते हैं. गत शुक्रवार (26 अप्रैल) रात लगभग आठ बजे ग्राम दाबकी का एक मुस्लिम युवक ट्रैक्टर लेकर मदनलाल के घर के सामने से गुजरा. मदनलाल के घर के बाहर लगा विद्युत केबल ट्रैक्टर में उलझकर टूट गया। जिस पर मदन लाल ने विरोध जताया, तो ट्रैक्टर चालक भड़क उठा.

बुर्के का विरोध ईरान में करने वाली महिला को मिली ऐसी सजा कि कांप उठेगी रूह.. खामोश हैं बुद्धिजीवी

उन्मादी ट्रैक्टर चालक ने उसके साथ बैठे व्यक्ति को गांव भेजकर साथियों को बुलाकर लाने के लिए कहा. इसके अलावा उसने कई लोगों को कॉल करके बुला लिया. मदनलाल का आरोप है कि मुस्लिम समुदाय के करीब 30 लोगों ने एकत्रित होकर लाठी-डंडे से हमला कर दिया जिसमें वह घायल हो गया. मदनलाल ने यहां पुलिस पर भी आरोप लगाये हैं तथा बताया है कि इसकी शिकायत उन्होंने देहात कोतवाली में की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई, जबकि आरोपी लगातार उन्हें धमकी दे रहे हैं. मदनलाल ने बताया कि तीन दिन हो गये लेकिन उनकी रिपोर्ट तक भी दर्ज नहीं की गई है.

वर्दी वाले तेज बहादुर के लिए न्याय मांगते कुछ ने ही बर्बाद कर डाला है एक वर्दी वाले सब इंस्पेक्टर शैलेन्द्र सिंह का जीवन.. भीख मांगने की कगार पर है वो परिवार

इसके बाद शुभ सिटी में नए मकान बनाकर रहने वाले लोग इस घटना के बाद से दहशत में हैं. उन्होंने अपने मकानों पर मकान बिकाऊ है के पोस्टर लगा दिए हैं. अब अंधेरा होने के बाद घर से निकलने में खतरा महसूस कर रहे हैं. मदन लाल कहते हैं कि आरोपी लगातार उनको धमकी दे रहे हैं, घटना के बाद पूरा परिवार दहशत में है तथा बच्चे उस दिन के बाद से गुमसुम हैं. ऐसी हालत में यहां पर रहना खतरे से खाली नहीं है. उनका यहां से चले जाना ही ठीक है. इसलिए उन्होंने अपने नए मकान पर बिकने के लिए पोस्टर चिपका दिया है.

ब्लास्ट और नरसंहार के आरोपी श्रीलंकाई मुसलमानों के लिए अब भारत से उठी पहली आवाज… देवबंद को हुआ दर्द, पर मृतकों के लिए नहीं

मदनलाल ही नहीं बल्कि यहां रहने वालीं डॉक्टर कुसुम कहती हैं कि यहां पर पहले से ही असामाजिक तत्वों का बोलबाला रहा. रात में डेढ़ बजे असामाजिक तत्व आकर अभद्रता करते रहे, लेकिन अब तक वह स्थिति सुधर जाने की उम्मीद में रहते रहे. गत 26 अप्रैल को मोहल्ले में हुई घटना के बाद अब यहां रहना सुरक्षित नजर नहीं आ रहा है. कुछ लोगों की हरकत के बाद यहां रहना मुश्किल है. इसलिए उन्होंने भी अपना मकान बेचने का मन बना लिया है और मकान बिकाऊ है का पोस्टर लगा दिया है.

खाने पर वीडियो जारी करने के समय तेज बहादुर यादव की फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में थे 500 पाकिस्तानी..

नया मकान बना रहे सुधीर तो इस घटना के बाद से इतना डरे हुए हैं कि उन्होंने मकान का निर्माण बीच में ही रोक देने का मन बना लिया है. वह कहते हैं कि वह शांति से अपने परिवार की गुजर-बसर करना चाहते हैं लेकिन यहां तो झगड़ा कभी भी हो सकता है, वह इस मकान को बेचेंगे. पास में ही रहने वाले राम सिंह राणा कहते हैं कि उन्हें नहीं पता था कि यहां ऐसा माहौल है. अब तक असामाजिक लोग यहां शराब पीकर, जुआ खेलते थे और हंगामा करते थे, लेकिन अब तो हद हो गई. यहां से मकान बेचना ही ठीक है. रोज-रोज कौन झगड़ा करेगा और पुलिस के चक्कर काटेगा.

CRPF का फर्जी जवान बनकर कुछ बुरा करना चाहता था नदीम खान, समय रहते दबोचा गया.. फर्जी हिन्दू बनने के बाद अब फर्जी सैनिक बनने लगे उन्मादी

पीड़ित मदनलाल का कहना है कि उन पर हमला करने के लिए पहुंचे लोगों ने खुलेआम चेतावनी दी कि वह इस क्षेत्र को कैराना बना देंगे. उनका रास्ता बंद कर दिया जाएगा, दीवार बनाकर आना-जाना रोक दिया जाएगा. उनकी जमीन पर ही मकान बना हुआ है, यहां नहीं रहने दिया जाएगा. इस मामले में एसएसपी दिनेश कुमार का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है. दोनों पक्षों की तहरीर आ गई है. उन्होंने तुरंत रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं. मामले में निष्पक्ष कार्रवाई होगी.

सामने आया सैनिकों के सम्मान का असल सच.. लालू की पार्टी के गुंडों ने ITBP के जवान और उसके परिवार को बेरहमी से पीटा

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share