Breaking News:

बुलंदशहर के गोतस्करों पर लगी रासुका… इज्तिमा के आयोजक हाजी रफीक को जारी हुआ नोटिस

बुलंदशहर में गोकशी को लेकर हुए बवाल के बाद अब पुलिस प्रशासन ने गोतस्करों के खिलाफ आक्रामक कार्यवाई शुरू कर दी है. खबर के मुताबिक़, जेल में बंद बुलंदशहर के गोतस्कर सोनू उर्फ फिरोज पर प्रशासन ने रासुका लगा दी है. जनसामान्य की सुरक्षा की दृष्टि से डीएम ने कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. बता दें कि गोतस्कर सोनू उर्फ़ फिरोज खुर्जा के इस्लामाबाद में हुई गोकशी के मामले में जेल में बंद है, जिस पर अब रासुका लगाई गई है.

ज्ञात हो कि नवंबर को इस्लामा स्थित एक अहाते में 21 गोवंशों के अवशेष मिले थे. सूचना पर पहुंची पुलिस ने सोनू उर्फ फिरोज समेत तीन आरोपियों को मौके से गिरफ्तार कर लिया था. मामले में हिस्ट्रीशीटर हाजी आरिफ समेत आठ लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई थी. इस्लामाबाद में बड़े पैमाने पर हुई गोकशी के मामले में रोष व्यक्त करते हुए लोगों ने समाज की भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाते हुए डीएम से कड़ी कार्रवाई की मांग की थी. लोगों का कहना था कि गोकशी में शामिल अपराधी प्रवित्ति के लोगों से क्षेत्र में भय और आतंक व्याप्त है.

डीएम अनुज कुमार झा ने बताया कि पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर और जनसामान्य की सुरक्षा की दृष्टि से जिला कारागार में बंद सोनू उर्फ फिरोज को राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत निरुद्ध करने के निर्देश दिए गए हैं. एसपी देहात मनीष मिश्र ने बताया कि जल्द ही हाजी आरिफ समेत अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. उन्होंने बताया कि इसके लिए टीम काम कर रही है. बताया गया है कि आरोपियों के खिलाफ कुर्की की तैयारी भी चल रही है.

इसके अलावा हाल ही में बुलंदशहर में हुए इज्तिमा को लेकर भी बड़ी खबर  आई है. खबर के मुताबिक़, इज्तमा में दो लाख लोगों के आने की बात कहते हुए अनुमति संयोजक ने ली थी. प्रशासन के अनुसार इसमें अनुमति से कई गुना अधिक लोग पहुंचे. इससे जनपद की व्यवस्थाएं प्रभावित हुई. इस पर संयोजक खुर्जा नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन हाजी रफीक सहित अनुमति की संस्तुति करने वाले 10 से अधिक सरकारी विभागों को नोटिस जारी किया गया था, जिस पर अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है. एडीएम प्रशासन अरविन्द कुमार मिश्र ने कहा कि जिन विभागों ने तब्लीगी इज्तमा के संबंध में रिपोर्ट नहीं भेजी है उन्हें अब रिमाइंडर नोटिस भेजकर अति शीघ्र क्षति की रिपोर्ट मांगी गई है. इसके बाद अगली कार्यवाही होगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW