उत्तर प्रदेश पुलिस अपने पराक्रम के शीर्ष पर. STF ने सकुशल बचाया अपहरत डॉक्टर को….

आपराधियों के हौसले दिनों दिन बढ़ते जा रहे है। अपराध भी अब सोची समझी और पुख्ता प्लानिंग के साथ किया जा रहा है। दिल्ली के डॉक्टर श्रीकांत गौड़ का 6 जुलाई को ओला कैब से अगवा कर लिया गया था। श्रीकांत गौड़ दिल्ली में मेट्रो हार्ट एवं कैंसर अस्पताल प्रीत विहार के डॉक्टर है। जब डॉक्टर घर आ रहे थे तब कैब ड्राइवर और उसके दोस्त ने उनको किडनैप किया और मेरठ ले गए जहा बंधक बना कर एक घर में रखा और 5 करोड़ फिरौती की मांग की।

ओला कैब चालक द्वारा अगवा किए गए डॉक्टर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के बाद मेरठ के शताब्दीनगर सेक्टर-1 से छुड़ा लिया गया है। इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस, एसटीएफ और मेरठ पुलिस ने बुधवार शाम संयुक्त रूप से परतापुर थाना क्षेत्र के शताब्दीनगर स्थित एक मकान को घेर कर दिल्ली से अपहृत डॉक्टर ए. श्रीकांत गौड़ को छुड़ा लिया। बदमाशों और पुलिस में 50 से ज्यादा राउंड फायरिंग हुई। इस दौरान एक बदमाश पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया।

पुलिस ने घायल बदमाश के दो अन्य साथियों को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम ने घायल प्रमोद को अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस ने बदमाशों के पास से कई हथियार भी बरामद किए हैं। गौरतबल है कि मेरठ के बदमाशों ने किडनैपिंग के लिए ओला कैब में पहले एंट्री की फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस और काजगात तैयार करके, प्लान के मुताबिक किडनैपर सुशील ने फर्जी लाइसेंस पर ओला कैब ड्राइवर बना फिर डाक्टर को बैठाया उसके बाद इसके तीन साथियों ने मिलकर किडनैपिंग की वारदात को अंजाम दिया।

Share This Post

Leave a Reply