Breaking News:

पैलेट गन बैन की मांग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा-शांति के लिए सरकार और लोगों में हो बातचीत

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर में पैलेट गन के इस्तेमाल को बंद करने की मांग पर सुप्रीम कोर्ट ने अहम टिप्पणी की है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम केंद्र सरकार को पैलेट गन का इस्तेमाल करने पर रोक लगाने के लिए कहने के लिए तैयार हैं, लेकिन क्या आप यह भरोसा दिलवाइए कि आगे से कश्मीर में पत्थरबाजी नहीं होगी।

अगर इसी तरह दोनों पक्षों में टकराव होगा तो बातचीत कैसे होगी। कोर्ट ने याचिकाकर्ता जम्मू-कश्मीर बार एसोसिएशन के से कहा है कि वह कश्मीर के लोगों और प्रतिनिधियों से बातचीत कर कंक्रीट सुझाव लेकर सुप्रीम कोर्ट आएं। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन से कहा कि वह घाटी के हालात सुधारने के लिए सुझाव दें और वहां पर हिंसा को रुकवाएं।

तो वहीं, केंद्र सरकार ने कोर्ट को बताया कि इस मुद्दे पर सिर्फ मान्य पार्टियां से ही बात करेगी, ना कि अलगाववादियों के खिलाफ। उधर बार असोसिएशन का कहना था कि केंद्र इस बातचीत में हुर्रियत के नेताओं को भी शामिल करे और संवैधानिक दायरे के अंदर रहकर बातचीत करने की शर्त छोड़ दे।

इसके जवाब में केंद्र ने कहा कि वह केवल उन्हीं लोगों के साथ बातचीत के लिए तैयार है जो कि जनता के प्रतिनिधि बनकर उनकी तरफ से सरकार के साथ विमर्श करने की कानूनी वैधता रखते हैं। गौरतलब है कि घाटी में लगातार पत्थरबाजी की घटनाएं होती रहती हैं। पत्थरबाजी में कई दफा जवानों के घायल होने की भी खबर आती है। हालांकि, सेना के द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाली पैलेट गन पर भी कई बार सवाल खड़े किये जा चुके हैं। 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW