एक बार फिर से बुलंदशहर में मिले गौमाता के कटे अंग… सफलता की तरफ गौहत्या समर्थकों की साजिश

3 दिसंबर को बुलंदशहर में गोकशी के बाद हुई हिंसा के बाद जिस तरह से तथाकथित बुद्धिजीवियों तथा धर्मनिरपेक्ष नेताओं ने गोरक्षकों को निशाने पर लेने की आड़ में गोरह्त्यारों का बचाव किया, उसका असर एक बार पुनः दिखाई दिया है जब बुलंदशहर में एक बार फिर से गौमाता के कटे अंग मिले. खबर के मुताबिक़, बुलंदशहर के अरनिया थाना क्षेत्र के भोगपुर गांव के जंगल में बुधवार को गोवंशों के अवशेष मिलने पर ग्रामीणों का गुस्सा भड़क उठा. गोवंश मिलने की सूचना पर हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए. पुलिस फोर्स ने समय रहते गांव पहुंचकर स्थिति को संभाला.

जानकारी के अनुसार, अलीगढ़ जनपद के थाना चंडौस क्षेत्र के भोगपुर गांव निवासी राजेंद्र का अरनिया थाना क्षेत्र में डाबर और क्योली गांव के बीच बाग है. बुधवार सुबह कुछ लोगों ने बाग में चार गोवंशों के अवशेष पड़े हुए देखे. साथ ही एक चाकू भी पड़ा हुआ मिला. इसकी जानकारी होने पर काफी संख्या में लोग मौके पर एकत्र हो गए. उन्होंने फोन करके जानकारी पुलिस को दी. गोवंश के अवशेष मिलने की सूचना मिलने पर अरनिया थाने की पुलिस और अलीगढ़ के चंडौस थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई.

पुलिस ने आनन-फानन गोवंश के अवशेषों को कब्जे में ले लिया तथा जेसीबी बुलाकर दफना दिया गया. उधर, जानकारी होने पर बजरंग दल के कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए. पुलिस ने लोगों को किसी तरह समझा-बुझाकर शांत किया. पुलिस गोवंशों का कटान करने वालों को चिन्हित कर कार्रवाई करने की बात कह रही है. सीओ खुर्जा गोपाल सिंह ने बताया कि चंडौस-अरनिया थाना क्षेत्र के बॉर्डर के गांव में गोवंश के अवशेष मिले है. पुलिस ने इस मामले में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है तथा आरोपी जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे.

Share This Post