दर्दनाक हादसा : चचरे भाई को बचाने के चक्कर में तीन डूबे ,मौत

औरैया के अजीतमल इलाके में यमुना नदी में नहाते समय एक किशोर
डूबने लगा।  उस समय उसे बचाने दो चचेरे भाई
भी नदी में कूद पड़े। ओर तीनों किशोर यमुना में डूब गए। जानवरो को चरा रहे लड़कों
ने शोर मचाया तो गांव के लोग दौड़े। गोताखोरों ने तीनों को बाहर निकाला सीएचसी
अजीतमल लेकर पहुंचे। जहां डाक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

इटावा जिले के
थाना सहसों के गांव सिंडोस निवासी राजेश दिवाकर और उसका छोटा भाई बड़ेलाल उर्फ
योगराज बाबरपुर कस्बे के मोहल्ला अशोक नगर में रह रहे है। शनिवार को राजेश के
बहनोई लालमन निवासी गांव असेवा थाना अयाना की लड़की की शादी थी।

हैंवरा इटावा से बारात आ रही थी।
राजेश व योगराज का पूरा परिवार अपने बहनोई की लड़की की शादी में असेवा गया था।
दोपहर करीब
3 बजे योगराज का बड़ा पुत्र गोलू उर्फ  शिवम (13) व राजेश के दोनों पुत्र ऋतिक (16 ) व राज (17) यमुना नदी में नहाने चले गए। नहाते
समय गोलू यमुना में डूबने लगा। उसे डूबता देख ऋतिक व राज उसे बचाने को यमुना में
कूदे पर वह भी डूब गए।

मौके पर बकरियां चरा रहे कुछ लोगों
ने तीनों को यमुना में डूबते देखा तो दौड़कर ग्रामीणों और परिजनों को सूचना दी।
परिजन और ग्रामीण दौड़ते हुए वहां पहुंचे। गोताखोर राधे ने यमुना में छलांग लगा
तीनों भाइयों को खोजकर बाहर निकाला। सीएचसी अजीतमल में डाक्टरों ने तीनों को देखते
ही मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने कोतवाली प्रभारी जितेंद्र कुमार सिंह मौके पर
पहुंचे। सूचना मिलते ही एसडीएम राजेंद्र कुमार व सदर विधायक रमेश दिवाकर भी पहुंच
गए। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल था।

  

Share This Post