उस गद्दार को अदालत ने भी नहीं बख्शा जिसने फेसबुक पर जिंदाबाद लिखा था पाकिस्तान को

पाकिस्तान से ऐसा भी क्या प्यार की देश को गाली दो अपने ही देश की तौहीनी करो। ये वही है जो भारत में आतंकियों को पनाह देते है। इनपर कोर्ट भी सख्त है

और कोई भी मुरवत नहीं करना चाहती। गौरतबल हो की एक सख्स ने 18 जून को भारत पाकिस्तान मैच के दिन पाकिस्तान की जीत पर फेसबुक के एक पोस्ट

में भारत को बुरा भला कहा था पाकिस्तान जिंदाबाद लिखा था और हिन्दुओं के खिलाफ अभद्र बाते लिखी थी।

जिसके बाद उसको धार्मिंक एवं राष्ट्रीय भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में सजा मिला था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था।

जिसने जमानत के लिए याचिका दायर किया था। धार्मिंक एवं राष्ट्रीय भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोपी की जमानत याचिका जिला एवं सत्र न्यायधीश राजेंद्र

सिंह ने खारिज कर दी है।

उन्होंने कहा की गांव बादशाहपुर पथरी निवासी इफजुलरहमान पुत्र जमील पर आरोप है कि विगत 18 जून को भारत पाकिस्तान के बीच हुए क्रिकेट मैच में

पाकिस्तान के जीतने पर उसने फेसबुक पर पाकिस्तान जिंदाबाद का स्टेटस डाला था और वो सांप्रदायिक मामला भड़काने और देशद्रोह का आरोपी है। इसलिए

जमानत की याचिका ख़ारिज दी। 

Share This Post