जय श्रीराम के नारे का का विरोध करने वाली पार्टी का विधायक जैसे ही घुसा गाँव में, वहां गूँज उठे जय श्रीराम के नारे.. गांववालों ने घुसने से रोका

जयश्रीराम के पूज्य उद्घोष को लेकर ममता बनर्जी शासित पश्चिम बंगाल में लड़ाई तेज होती जा रही है. एकतरफ मुख्यमन्त्रे एम्मता बनर्जी जयश्रीराम का उद्घोष करने वालों के खिलाफ तनकर खड़ी हो गईं है तो वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल के स्वाभिमानी हिन्दू ममता बनर्जी को देखते ही जोर शोर से न सिर्फ जयश्रीराम का उद्घोष कर रहे हैं बल्कि ममता की पार्टी के नेताओं के खिलाफ संगठित हो रहे हैं.

श्रीरामभक्तों की इसी एकता का नजारा राज्य के पूर्वी मेदिनिपुर जिले के खेजुरी में गांव में उस समय देखने को मिला जब गाँव वालों ने जय श्री राम का नारा लगाते हुए तृणमूल विधायक रंजीत मंडल को गांव में घुसने से रोक दिया. लोगों का कहना था कि तृणमूल वाले जबरदस्ती गांव वालों को तृणमूल कांग्रेस का समर्थन करने के लिए मजबूर कर रहे हैं. विधायक को गांव में घुसाने के लिए पुलिस ने काफी मशक्कत की लेकिन गांव वाले टस से मस नहीं हुए. सड़क पर पेड़ काट कर डाल दिया.

इसमें सबसे बड़ी बात है कि महिलाएं झाड़ू और डंडा लेकर पुलिस और विधायक को घेर ली थी जिसके बाद मजबूरन पुलिस को भागकर खुद को बचाना पड़ा. विधायक को घेरने वाले गांव वाले कह रहे थे कि वह मरने के लिए तैयार हैं लेकिन ना तो पुलिस को और ना ही विधायक को गांव में घुसने देंगे. लोगों का कहना था कि प्रभु श्रीराम हमारे आराध्य हैं और श्रीराम के जयगान का विरोध करने वालों को गाँव में नहीं घुसने दिया जाएगा. अंत में विधायक और पुलिस को उल्टे पांव भागना पड़ा.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW