झारखण्ड सरकार ने उठाया बड़ा कदम… इस्लामिक जिहादी दल PFI को फिर किया बैन

मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की झारखण्ड सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए आतंक की राह चल रहे और दक्षिण भारत मे हिंदुओं की हत्या कर रहे इस्लामिक समूह PFI को प्रतिबंधित कर दिया है. PFI पर यह कार्रवाई क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट ऐक्ट 1908 के सेक्शन 16 के तहत की गई है. इससे पहले पिछले साल भी झारखंड सरकार ने आतंकी संगठन, इस्लामिक स्टेट (आईएस) से कथित संबंधों के कराण पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पर प्रतिबंध लगा दिया था.

खबर के मुताबिक़, मंगलवार को गृह कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने पीएफआई को प्रतिबंधित करने का आदेश जारी कर दिया है. पीएफआई पर आतंकी साठगांठ का आरोप है. पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआइ) को बैन करने के लिए झारखंड सरकार ने आतंकी कनेक्‍शन का हवाला दिया है. पिछले साल ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने टेरर फंडिंग के कथित मामलों को लेकर पीएफआई के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिग का आपराधिक मामला भी दर्ज किया था.

बता दें कि पीएफआई सबसे ज्यादा केरल में सक्रिय है साथ ही दक्षिण के कई अन्य राज्यों में भी इसका प्रभाव है लेकिन धीरे धीरे अन्य राज्यों में पैर पसारने की कोशिश भी कर रहा है. NIA ने अपनी एक जांच रिपोर्ट में पीएफआई पर छह आतंकी घटनाओं में लिप्त रहने का आरोप लगाया था. इसके बाद झारखण्ड सरकार ने इस पर बैना लग दिया था. बाद में मामला हाइकोर्ट में चला गया था. तब उच्‍च न्‍यायालय के आदेश पर पीएफआई से बैन हटा लिया गया था लेकिन अब झारखंड सरकार एन बार फिर PFI को बैन कर दिया है.

राष्ट्रवाद पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW