Breaking News:

पहलूखान से भी ज्यादा पेंचीदा मामला मुज़फ्फरनगर में “‘परिवार वाले बता रहे है हत्यारों का नाम पुलिस कह रही है हम कैसे मान ले ?

मुज़फ्फरनगर/उत्तर प्रदेश 

मुज़फ्फरनगर के पुरकाजी थाना क्षेत्र के गाँव गोधना में गत महा एक चाय विक्रेता के पुत्र की  धारदार हथियारों से हमला कर हत्या कर दी गई थी लेकिन उस पीड़ित परिवार को न्याय अभी तक नही मिल सका है ।पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने अभी तक दूसरे आरोपी को गिरफ्तार नही किया है ।दूसरा आरुई अभी भी  खुलेआम घूम रहा है लेकिन पुलिस उसे गिरफ्तार ना करके बचाने में जुटी है।आज एक माह  बीत जाने के बाद भी पीड़ित परिवार को न्याय नही मिल सका है ।

दरअसल पिछले माह पुरकाजी थाना छेत्र के गोधना गाँव निवासी मनोज शर्मा के पुत्र चेतन को गांव के ही कुछ दबंग युवकों द्वारा धारदार हथियारों से हमला कर मौत के घाट उतार दिया था व् फरार हो गए थे मृतक के परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर रोड जाम कर  दिया था,हजारो की संख्या में महिलाये व् पुरुष सडको पर उतर आये थे  मामला बढता देख आला अधिकारी SP CITY व SDM सदर स्वम अन्य अधिकारियों के साथ मोके पर पहुचे व परिजनों को समझाने का प्रयास किया, काफी मसक्कत के बाद तय हुआ और परिजनों से वादा किया गया की 72 घंटो के अन्दर  मुख्य दोनों आरोपीयो की गिरफ़्तारी कर ली जाएगी आप रोड जाम न करे  निश्चिंत रहे आपको न्याय मिलेगा इसी आश्वाशन के साथ परिजन व् उत्तेजित भारी भीड़ अपने घरो को वापस लोट गई;

हालाकि तय समय के अनुसार एक आरोपी की गिरफ़्तारी कर ली गई,लेकिन अभिषेक नामक दूसरा आरोपी अभी तक फरार है महीना भर गुजरने के बाद  मृतक के परिजनों ने थाने में  जाकर अपनी गुहार लगाई तो अब  थानाध्यक्ष हर शरण शर्मा पीड़ितो को दूसरा पाठ पढ़ाने में लगे है पुलिस अब फरार हत्या के आरोपी को अदालत में पेश करने से पहले ही निर्दोष शाबित करने में लगी है पुरकाजी थानाध्यक्ष हर शरण शर्मा का कहना है की थाने में बहुत सारे काम होते है हमारे पास मात्र यही एक मामला नहीं है अभी त्यौहार चल रहे है बाद में देखेंगे, मृतक के परिजनों को अलग अलग तरकीब बता रहे है थानाध्यक्ष /महोदय कहना है की उक्त व्यक्ति उस दिन गाव में था ही नहीं हम निर्दोष को जेल में कैसे डाल दे, सम्बंधित थाने की भूमिका से नाखुश परिजनों ने आला अधिकारीयों का रुख किया व सेकडो महिलाए व अन्य परिजन SP CITY के दर पहुचे व अपना दर्द बयां किया और न्याय के लिए किये गए वादे को याद दिलाया परिजनों का कहना है की सजा देना ना देना अदालत का काम है पुलिस अपना काम ईमानदारी से करे और आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करे, यदि वह व्यक्ति निर्दोष है तो वो घरबार छोड़ कर फरार क्यों है जबकि पूरा गाव वही पर है शातिर अपराधी है इससे पहले भी वह अपने परिवार के ही व्यक्ति की हत्या के मामले में शामिल रहा है

अब पीड़ित परिवार के साथ समाज के लोग भी इकट्ठा हो कर कभी थाना अध्यक्ष के दरबार मे में हाजिरी लगाकर कार्यवाही की गुहार लगा रहे है तो कभी किसी अधिकारी की चौखट पर जाकर दस्तक देते हुए आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही की मांग कर रहे है । लेकिन पुरकाजी थानाध्यक्ष के लिए हत्या का मामला प्राथमिकता की लिस्ट में नहीं है

रिपोर्ट

समर ठाकुर

वेब जनर्लिस्ट/ मुज़फ्फरनगर जनपद

Mob-9368004900

 

 

Share This Post