Breaking News:

आतिफ ने सब इंस्पेक्टर और सिपाही को चाकुओं से गोदा.. प्रार्थना कीजिये सुनील कुमार और उपेन्द्र के लिए

इसको आपराधिक चरमपंथ की अंतिम हद कहना गलत नहीं होगा जिसमे आम जनता तो दूर अब सीधे सीधे पुलिस वलों को भी बनाया जाने लगा है निशाना. मेरठ की इस घटना को क्यों न सीधे सीधे कानून को चुनौती माना जाय जहाँ पर एक सिपाही और एक सब इंस्पेक्टर को एक उन्मादी ने चाकुओ से गोद डाला है और दोनों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है . यद्दपि सब इंस्पेक्टर और सिपाही निश्चित रूप से हथियारों के साथ थे पर मानवाधिकार के साथ तमाम पुलिस मैनुअल के चलते उन्होंने अपने आप को रोक रखा था जो अंत में अपराधी के हौसले को बढाने में आग में घी जैसा काम किया .

ध्यान देने योग्य है कि ये दुस्साहसिक घटना है उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के . यहाँ यूपी के मेरठ में नशे में धुत  हो कर एक अभियुक्त आतिफ ने सब इंस्पेक्टर और एक सिपाही पर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर के उनको गंभीर रूप से घायल कर दिया। इस घटना के सूचान पर  अपने साथी के सहयोग में पहुंचे पुलिस बल ने गंभीर हालत में दरोगा और सिपाही को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उन दोनों का इलाज चल रहा है।

समाज का एक बड़ा वर्ग इन वर्दी वालों के जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहा है . सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि इसके बाद से पुलिस ने हमलावर आतिफ को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ के दौरान आरोपी के पैर में गोली लगी। उससे एक तमंचा भी पुलिस ने बरामद किया है। जानकारी के अनुसार, घटना मेरठ के नौचंदी थाना क्षेत्र के जैदी फार्म पुलिस चौकी के पास की है। बता दें कि एल-ब्लॉक चौकी इंचार्ज दरोगा सुनील कुमार रविवार रात सिपाही उपेंद्र सिरोही के साथ गश्त पर थे। रात करीब 12 बजे वापस चौकी जाते वक्त रास्ते में पड़ने वाली जैदी सोसायटी के बाहर एक युवक हाथ में चाकू लिए खड़ा दिखा।

ऐसा व्यक्ति आम राहगीरों के लिए और स्थानीय जनता के लिए घातक हो सकता था जिसको ध्यान में रखते हुए कर्तव्यपरायण दरोगा सुनील कुमार ने कार रोकी और सिपाही उपेंद्र सिरोही की मदद से युवक को दबोचकर चाकू छीनने का प्रयास किया। इस दौरान युवक ने चाकू से दरोगा और सिपाही पर ताबड़तोड़ हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। वारदात को अंजाम देकर युवक मौका-ए-वारदात से फरार हो गया। युवक का नाम आतिफ बताया जा रहा है। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरोगा सुनील कुमार और सिपाही उपेंद्र सिरोही को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं, पुलिस ने हमलावर को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ के दौरान आरोपी के पैर में गोली लगी। उससे एक तमंचा भी पुलिस ने बरामद किया है।

Share This Post