कांग्रेस शासित राजस्थान में सरकारी अफसरों की चल रही थी मीटिंग.. अचानक स्क्रीन पर चलने लगी ब्लू फिल्म जबकि मौजूद थी महिला अफसर


मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली राजस्थान सरकार को उस समय शर्मशार होना पड़ा जब खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की मीटिंग के दौरान पॉर्न वीडियो चल गया. राजधानी जयपुर में सचिवालय के एनआईसी के कमरे में सोमवार को खाद्य और आपूर्ति विभाग की सचिव मुग्धा सिंह विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वरिष्ठ अधिकारियों की मीटिंग ले रही थीं, तभी बीच मीटिंग में अचानक से स्क्रीन पर पॉर्न विडियो चलने लगा. विभाग की सचिव की मौजूदगी में हुए इस शर्मनाक वाकये से हर कोई हैरान रह गया.

आनन-फानन में स्क्रीन को ऑफ किया गया. घटना के बाद राष्ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी) के डायरेक्टर ने जांच के आदेश दिए हैं. मुग्धा सिन्हा ने बताया कि वीडियो कांफ्रेंसिग की बैठक के बीच स्क्रीन पर एक अश्लील क्लिप चलने लगी. ‘मैंने तुरंत एनआईसी निदेशक को बुलाकर उन्हें मामले की जांच करने के निर्देश दिए और इस संबंध में एक रिपोर्ट पेश करने को कहा.’ उन्होंने बताया कि सचिवालय के कमरे में बैठक के दौरान विभाग और एनआईसी के प्रतिनिधि सहित करीब 10 लोग मौजूद थे. वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राज्य के 33 जिलों के आपूर्ति अधिकारियों के साथ बैठक में चर्चा की जा रही थी.

सिन्हा ने बताया कि राज्य की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा के लिये यह बैठक आयोजित की गई थी. उन्होंने बताया कि एनआईसी के निदेशक की रिपोर्ट के आधार पर दोषी अधिकारी के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी. कहा जा रहा है कि जब एक अधिकारी लैपटॉप चला रहा था तो अचानक से पॉपअप विज्ञापन आया. पॉपअप पर गलती से क्लिक हो गया जिसकी वजह से पॉर्न साइट खुल गया. लेकिन जिस तरह से लापरवाही हुई है उससे विभाग की किरकिरी जमकर हुई है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share