Breaking News:

नाज़िम सिटी मांटेसरी स्कूल कहने को तो एक स्कूल था… जबकि असल में वो था कुकर्म का अड्डा.. प्रिंसपल फरीद खुद करता था मासूमों की आबरू से खिलवाड़


करीद खां जो नाज़िम सिटी मांटेसरी स्कूल का प्रिंसिपल था, इस स्कूल में अन्य स्कूलों के मुकाबले सबसे अच्छी शिक्षा देने का दावा करता था. अभिभावक भी बच्चों को इस स्कूल में काफी उम्मीदों के साथ भेजते थे कि प्रिंसपल करीद खां के संरक्षण में उनके बच्चे अच्छी तरह से पढाई करेंगे. लेकिन वो नहीं जानते थे कि करीद खां की हकीकत क्या है. और जब तक लोग करीद खां के वास्तविक चरित्र को समझ पाते तब तक तीसरी कक्षा की उस मासूम सहित तमाम बच्चों के बचपन को कुचला जा चुका था.

मामला उत्तर प्रदेश के बदायूं का है जहाँ के नाज़िम सिटी मांटेसरी स्कूल में तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली नौ साल की बच्ची ने स्कूल के प्रिंसिपल कदीर खां पर अश्लील हरक़त करने का आरोप लगाया है. बच्ची के परिजनों ने इसके अलावा पुलिस को एक वीडियो क्लिप भी दिखाई जिसमें स्कूल की अन्य छात्राओं ने भी प्रिंसिपल पर अश्लील हरक़तें करने का आरोप लगाया है. शिक़ायत के आधार पर पुलिस ने कदीर खां के ख़िलाफ़ धारा-376 एबी और लैंगिक अराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम-2012 (पॉक्सो) के तीन और चार के तहत FIR दर्ज कर ली है.

खबर के मुताबिक़, 17 सितंबर को तीसरी कक्षा की मासूम छात्रा को उसके पिता स्कूल छोड़कर अपनी दुकान पर वापस आ गए. इसके बाद सुबह क़रीब 10 बजे बच्ची की माँ ने उसके पिता को फ़ोन कर बताया कि स्कूल में उसकी बच्ची के साथ किसी ने ग़लत हरक़त की है. इसके बाद बच्ची के पिता घर पहुँचे और अपनी पत्नी समेत कुछ अन्य परिजनों के साथ स्कूल पहुँचे. वहाँ बच्ची ने बताया कि स्कूल के प्रिंसिपल कदीर खां ने उसके साथ शर्मनाक हरक़त की है, इसके बाद वहाँ मौजूद सभी लोग गुस्से से आग-बबूला हो उठे और प्रिंसिपल से इस संदर्भ में बात करने पहुँचे.

प्रिंसिपल ने परिजनों की शिक़ायत पर ग़ौर फ़रमाने की बजाए उन्हें धक्के देकर कार्यालय से बाहर निकलवा दिया. इस बीच परिजनों ने प्रिंसिपल के ख़िलाफ़ जमकर हंगामा किया, लेकिन उन्हें घर वापस आना पड़ा. थोड़े समय के बाद परिजन एक बार फिर से स्कूल पहुँचे और स्कूल में अन्य छात्राओं से कदीर खां के बारे में पूछताछ की तो पता चला कि वो अन्य मासूम बच्चियों के साथ भी अश्लील हरक़त करता था. इसके बाद उस वीडियो क्लिप को लेकर परिजन कोतवाली पहुँचे तथा मामला दर्ज कराया.

जानकारी के अनुसार, कदीर खां उस स्कूल का प्रिंसिपल और मैनेजर दोनों है. ये भी पता चला है कि कदीर खां न सिर्फ़ स्कूल की छात्राओं को अपना निशाना बनाता था बल्कि छात्रों के साथ भी अश्लील हरक़त करता था. अपनी गंदी हरक़तों को छिपाने के लिए वो बच्चों को डराता-धमकाता था और कहता था कि अगर उसकी हरक़तों के बारे में किसी ने भी अपने घर में बताया तो उसकी पिटाई होगी और उसे फेल कर दिया जाएगा.

स्कूल के छात्र-छात्राओं के बीच कदीर खां का इतना ख़ौफ़ था कि उन्होंने ख़ुद के साथ हो रहे अभद्र व्यवहार के बारे में कभी किसी को कुछ नहीं बताया. लेकिन, अब जब मामला सामने आ गया तो कुछ बच्चों ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कदीर खां के अश्लील बर्ताव के बारे में बताना शुरू कर दिया है. एक छात्र ने बताया कि कदीर खां उसके कपड़े उतारकर उसके शरीर पर हाथ फेरता था. अब परिजनों ने पुलिस स्टेशन जाकर प्रिंसिपल के खिलाफ कड़ी कार्यवाई की मांग की है. पुलिस ने मामला दर्ज कर प्रिंसिपल को कोर्ट में पेश किया, जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share