Breaking News:

वाघा सीमा पर लहराया देश का सबसे ऊंचा तिरंगा, पाकिस्तान को सता रहा ‘जासूसी’ का डर

अमृतसर : पाकिस्तान से महज कुछ ही दूरी पर स्थित भारत-पाक वाघा सीमा पर देश का सबसे ऊंचा तिरंगा लहराया गया। अटारी बॉर्डर पर रविवार को 360 फुट ऊंचे फ्लैगमास्ट का उद्घाटन किया गया। इसे देश का सबसे ऊंचा फ्लैगमास्ट कहा जा रहा है। बता दें कि ये तिरंगा 120 लंबा और 80 फुट चौड़ा है।

झंडे के पोल का वजन 55 टन है और इसके निर्माण पर 3.50 करोड़ रुपए का खर्च आया है। यह पंजाब सरकार के अमृतसर सुधार न्यास प्राधिकरण की परियोजना थी। यह तिरंगा इतना ऊंचा है कि इसे पाकिस्तान के लाहौर से भी देखा जा सकता है। पंजाब के मंत्री अनिल जोशी ने इस सबसे ऊंचे फ्लैगमास्ट पर देश का सबसे बड़ा तिरंगा फहराया।

जोशी ने कहा कि “मैं जब बड़ा हुआ, तो अक्सर सुना करता था सारे जहां से अच्छा, हिंदुस्तान हमारा। मैं एक सैनिक तो नहीं बन सकता, लेकिन मुझे लगता है हम सभी को ऐसा कुछ करना चाहिए जिससे की देश और देश की रक्षा करने वाले सैनिकों को गर्व महसूस हो। मुझे गर्व है कि इस तरह को कोई प्रोजेक्ट पूरा हो सका।”

इससे पहले देश के सबसे ऊंचे राष्ट्रीय झंडे का खिताब झारखंड के रांची में लगे 293 फुट के तिरंगे को मिला हुआ था। वहीं, बीएसएफ ने एलओसी के पास देश के सबसे ऊंचे तिरंगे को लेकर पाकिस्तान की आपत्तियों को खारिज कर दिया है। पाकिस्तान ने अटारी बॉर्डर के नजदीक फहराए गए 360 फीट ऊंचे तिरंगे पर ऐतराज जताया।

सूत्रों ने कहा है कि पाकिस्तान रेंजर्स ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को अपनी असंतोष व्यक्त कर दिया है और उन्हें सीमा से दूर ध्वज को स्थापित करने के लिए कहा है। पाकिस्तान ने इसे अंतरराष्ट्रीय संधियों का उल्लंघन बताया है। पाकिस्तान के अधिकारियों को आशंका है कि भारत इस फ्लैगमास्ट का इस्तेमाल जासूसी के लिए कर सकता है।

Share This Post