“इन भगवा गमछा वालों को कोई काम नहीं है क्या जो ये हमेशा हिन्दू-मुस्लिम करते रहते हैं”.. लेकिन आज यही भगवा गमछे वाले याद आये जब उनकी नाबालिग बेटी बन गई मुसलमान

वो कहते थे कि ये हिन्दू संगठन व्यर्थ में हिन्दू मुस्लिम करते रहते हैं तथा समाज में नफरत फैलाते रहते हैं. इस दुनिया में कुछ भी हिन्दू मुसलमान आदि नहीं होता तथा सब इंसान होते हैं. माथे पर तिलक लगा लिया, गले में भगवा डाल लिया तथा हिन्दू संगठन से जुड़कर नफरत फैलाना शुरू कर दी. उनके अनुसार ये भगवा संगठन समाज के दुश्मन हैं तथा इनसे बचकर रहना चाहिए. शायद आज कि छद्म धर्मनिरपेक्षता उनके खून में थी. लेकिन फिर आया वो समय जब उनको ये भगवा गमछे वाले तथा उनकी हर बात सत्य साबित प्रतीत होने लगी. अब वह कह रहे हैं कि काश उन्होंने इन भगवा गमछे वालों की बात मान ली होती तो आज ये दिन न देखना पड़ता.

उन्होंने भगवा गमछा वालों का इतना विरोध किया तथा धर्मनिरपेक्षता दिखाई कि अपने बच्चों को संस्कार तक न दे सके और अब उनकी नाबालिग बेटी लव जिहाद में फंसकर मोहम्मद अखलाख के साथ भाग गई. मामला पंजाब के जालंधर के होशियारपुर का है.  खबर के मुताबिक, थाना मॉडल टाऊन पुलिस टीम ने दिल्ली के सीतापुर एरिया में स्थित एक पुरानी मस्जिद में छिप कर रह रही लव जिहाद कि शिकार नाबालिगा तथा लव जिहादी 21 वर्षीय मोहम्मद अखलाक पुत्र मोहम्मद इस्माइल को काबू करके होशियारपुर लेकर आई. थाना मॉडल टाऊन में नाबालिगा ने अपने धर्मनिरपेक्ष पिता के घर जाने से साफतौर पर मना कर दिया, वहीं आरोपी मो.अखलाक को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया. अदालत ने आरोपी को 14 दिनों के ज्यूडीशियल रिमांड पर सैंट्रल जेल भेजने का आदेश दिया, दूसरी तरफ पुलिस नाबालिगा का मैडीकल करवाने के लिए उसे सिविल अस्पताल ले गई जहां मैडीकल रिपोर्ट में शारीरिक संबंध की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है. चूँकि नाबालिगा ने अपने माता-पिता के घर जाने से साफतौर पर इंकार कर दिया तो पुलिस ने उसे नारी निकेतन जालंधर भेज दिया.

मिली जानकारी अनुसार एक नाबालिगा को बिहार के समस्तीपुर का रहने वाला युवक मो.अखलाक शादी का झांसा दे बहला-फुसलाकर समस्तीपुर भगा ले गया था. परिजनों ने थाना मॉडल टाऊन पुलिस के समक्ष इस संबंधी शिकायत 25 मई 2018 को दी थी. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 363 व 366 अधीन केस दर्ज कर लिया था. इस बीच पुलिस को नाबालिगा के परिजनों की तरफ से गुप्त सूचना मिली कि दोनों समस्तीपुर से लौट कर अब दिल्ली की एक पुरानी मस्जिद में किराए पर पति-पत्नी की तरह रह रहे हैं. नाबालिगा व आरोपी के दिल्ली में छिपे होने की खबर मिलते ही ए.एस.आई. सोहनलाल के साथ कांस्टेबल हरदीप कुमार व लेडी कांस्टेबल रचना पर आधारित टीम को दिल्ली भेज दिया गया तथा दोनों को पकड़कर मॉडल टाउन लाया गया. अब लव जिहाद कि शिकार हुई युवती के पिता कह रहे हैं कि काश वह हिन्दू संगठनों कि बात मान लेते तो आज उनकी बेटी उनके साथ होती तथा उनकी इज्जत तार तार न होती.

Share This Post